महिलाओं का योगदान हर क्षेत्र में अहम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

जारी (गुमला) : जारी प्रखंड स्थित परसा पल्ली परिसर में नवाडीह भिखारिएट कैथोलिक महिला संघ की 15वीं आम सभा हुई. आम सभा को संबोधित करते हुए फा इलियस मिंज ने धार्मिक शिक्षा व प्रशिक्षण विषय पर कहा कि महिलाओं का योगदान हर क्षेत्र में अहम है.

धार्मिक शिक्षा के मूल उद्देश्यों की जानकारी देते हुए कहा कि हर भाई-बहनों को अपने-अपने धार्मिक नियमों को जानना आवश्यक है. हर ख्रीस्तीय विश्वासियों को ईश्वर पर विश्वास करना चाहिए. उनके बताये मार्गों का अनुशरण करना चाहिए.

श्री मिंज ने उपस्थित ख्रीस्तीय धर्मावलंबियों को आज्ञा, संस्कार, प्रार्थना व प्रभु यीशु पर विश्वास करना चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रार्थना से आत्मबल में वृद्धि होती है. उन्होंने धार्मिक प्रतिष्ठान, मिस्सा बलिदान, प्रार्थना, कलीसिया के नियम, बपत्तीसवां संस्कार, पुरोहिताभिषेक आदि विषयों पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी.

मौके पर फा अनसेलम कुजूर ने वाटिकन टू महासभा विशेषता विषय पर विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि ख्रीस्तीय धर्म विधि के विभिन्न चरणों को बताते हुए कहा कि ईश्वर के समीप पहुंचने के लिए विश्वास के साथ मन को परिवर्तन कर सही सोच रख कर और जागरूक होकर तीर्थ यात्रा भी करनी चाहिए.

उन्होंने ख्रीस्तीय समुदाय के सभी परिवारों का आह्वान करते हुए ईश्वर से प्यार व भक्ति करने की अपील की. समाज में शिक्षा जरूरी है. श्री कुजूर ने ख्रीस्तीय समुदाय के लोगों को कलीसिया के संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी दी. इससे पूर्व सुबह साढ़े पांच बजे पवित्र मिस्सा पूजा फा एलभियुस कुजूर की अगुवाई में संपन्न हुई.

मिस्सा पूजा के उपरांत फा एलभियुस कुजूर द्वारा संत पापा का झंडोत्तोलन एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया. इस मौके पर फा विनोद मिंज, फा आनंद खाखा, सि किरण, सि भियानी तिर्की, सि शोषण लुगून, महिला संघ अध्यक्ष भिखटोरिया बाखला, सचिव ग्रेस कुजूर, कोषाध्यक्ष ग्रेस तिग्गा सहित भिखमपुर, परसा, रजावल की महिलाएं हजारों की संख्या में उपस्थित थीं.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें