मानव दिवस सृजन में चार प्रखंड अव्वल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
उपलब्धि. जिला को कुल 48.05 लाख मानव दिवस सृजित करने का लक्ष्य
प्रतिदिन 100 मानव दिवस सृजित करने को लेकर प्रशासन सक्रिय है. शत-प्रतिशत मानव दिवस सृजित करने में जिला के बिरनी, डुमरी, गावां व तिसरी प्रखंड सबसे आगे है. डीडीसी के मार्गदर्शन व इन पंचायतों के मुखियाओं, पंचायत सचिवों व रोजगार सेवकों की कड़ी मेहनत से ही संभव हो सका है.
गिरिडीह : प्रतिदिन 100 मानव दिवस कार्य सृजित कर मनरेगा मजदूरों को रोजगार देने में गिरिडीह के चार प्रखंड सबसे आगे है. चाराें प्रखंडों में बिरनी, डुमरी, गावां और तिसरी शामिल है.
इन चार प्रखंडों में प्रतिदिन 100 मानव दिवस से अधिक कार्य सृजित किया जा रहा है. डीडीसी किरण कुमारी पासी के मार्गदर्शन व इन पंचायतों के मुखियाओं, पंचायत सचिवों और रोजगार सेवकों के कड़ी मेहनत से ही यह सब संभव हो सका है. हालांकि जिले के नौ प्रखंड लक्ष्य के अनुरूप प्रतिदिन 100 मानव दिवस सृजित करने में पीछे चल रहे हैं.
अब तक सबसे कम मानव दिवस सृजित करने में धनवार और बगोदर प्रखंड शामिल है. इन दो प्रखंडों में प्रतिदिन मात्र 57 दिनों का ही कार्य सृजित हो पा रहा है. इसी तरह सरिया में 66 और देवरी में 65 दिन का कार्य सृजित हो पा रहा है. इधर, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारियों, सहायक और कनीय अभियंताओं के अलावा बीडीओ और सहायक लिपिकों के साथ हुई बैठकों के बाद गिरिडीह जिला में प्रतिदिन 85 मानव दिवस कार्य सृजित हो रहा है.
11 हजार 514 डोभा का हो चुका है निर्माण
मालूम हो कि गिरिडीह जिले में कुल वार्षिक मानव दिवस का लक्ष्य 48.05 लाख निर्धारित है. जिले में कुल क्रियान्वित योजनाओं की संख्या 20,205 है, जिसमें पूर्ण हो चुकी योजनाओं की संख्या 5091 है. गिरिडीह जिले में कुल डोभा निर्माण का लक्ष्य 20 हजार हैं. लक्ष्य के विरुद्ध 18 हजार 322 डोभा की स्वीकृति दी जा चुकी है. इसमें 11 हजार 514 डोभा का निर्माण हो चुका है.
जिला की 332 पंचायतों में हो रहा कार्य
जिले की 358 पंचायतों में से 332 पंचायतों में मनरेगा समेत कंवर्जेंस के तहत संचालित योजनाओं पर कार्य चल रहा है. इन पंचायतों में अब तक कुल 30,449 मानव दिवस प्रतिदिन सृजित हो रहा है, जो लक्ष्य के विरुद्ध प्रतिदिन 85 मानव दिवस है. शेष 26 पंचायतों को भी इसमें जोड़ने की कवायद चल रही है. ऐसे पंचायतों के मुखियाओं, पंचायत सचिवों और रोजगार सेवकों में कार्य के प्रति रुचि जगाने के लिए संबंधित अधिकारियों प्रयासरत है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें