संबद्ध डिग्री कॉलेजों के मामले में निर्णय शीघ्र : मंत्री

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

धनबाद: घाटानुदान व अंगीभूतीकरण मामले में संबद्ध डिग्री कॉलेज महासंघ के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में रांची क्लब में महासंघ का प्रतिनिधिमंडल मानव संसाधन विकास मंत्री गीताश्री उरांव से मिला. मंत्री श्रीमती उरांव ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि उनके मामले पर फैसला शीघ्र हो जायेगा.

उन्होंने कहा कि मामले में पिछली सलाहकार समिति की रिपोर्ट पर ही निर्णय लेते हुए शिक्षा विभाग फाइल शीघ्र वित्त विभाग को भेज देगा. मामले में सिर्फ सचिव के योगदान देने की प्रतीक्षा है. शिक्षा मंत्री श्रीमती उरांव ने बताया कि सरकार की भरपूर कोशिश होगी कि वित्त विभाग से फाइल को निकलवा कर उस पर यथाशीघ्र कैबिनेट की स्वीकृति ले ली जाये.

क्या है स्थिति : गत 15 मई 2014 को इस समझौता के साथ महासंघ ने हड़ताल समाप्त की थी कि चुनाव आचार संहिता हटने के बाद फैसला ले लिया जायेगा. मामले में मुख्य सचिव ने फैसले के लिए एक सलाहकार समिति का गठन किया था जिसमें विज्ञान एवं प्रौद्योगिक विभाग के सचिव एके पांडेय, निदेशक केके नाग, शुक्ला मोहंती तथा फिरोज अहमद को रखा गया था. लेकिन शिक्षा मंत्री को सलाहकार समिति में संतुष्ट नहीं थी जिसके चलते मामला लटका हुआ था. पिछली समिति ने जांच के आधार पर अपना रिपोर्ट कब का समर्पित कर दिया है.

कितने स्टूडेंट्स निर्भर हैं संबद्ध कॉलेजों पर

राज्य में संबद्घता प्राप्त 55 कॉलेज हैं, जिसमें करीब डेढ़ लाख छात्र-छात्रएं अध्ययनरत हैं. इसमें विभावि के क्षेत्र में 29 कॉलेज हं,ै जिसमें दो कॉलेज महासंघ के साथ नहीं हैं. बाकी 27 में 90 हजार स्टूडेंट्स अध्ययनरत हैं. धनबाद में इस प्रकार के सात कॉलेज हैं जिसमें करीब 35 हजार स्टूडेंट्स अध्ययरत हैं.

धनबाद में कौन से कॉलेज

केएसजीएम निरसा, बीबीएम कॉलेज बलियापुर, बाघमारा कॉलेज, बीएसएस महिला कॉलेज, राजगंज कॉलेज, डीएवी महिला कॉलेज कतरासगढ़ तथा पीएनएम कॉलेज गोमो.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें