1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. jharkhand cyber crime news 11 cyber criminals including 2 csp operators arrested in deoghar know used to cheat smj

Jharkhand Cyber Crime News : देवघर में 2 CSP संचालक समेत 11 साइबर क्रिमिनल गिरफ्तार, जानें कैसे करते थे ठगी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
साइबर क्रिमिनल की गिरफ्तारी संबंधी जानकारी देते देवघर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा व अन्य.
साइबर क्रिमिनल की गिरफ्तारी संबंधी जानकारी देते देवघर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा व अन्य.
प्रभात खबर.

Jharkhand Cyber Crime News, Deoghar News, देवघर न्यूज (अजय यादव) : देवघर की साइबर थाना की पुलिस ने साइबर ठगी के आरोप में 2 CSP संचालक समेत 11 साइबर क्रिमिनल को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनलोगों के पास से 17500 हजार रुपये सहित 14 मोबाइल, 22 सिम, 15 पासबुक, 3 चेकबुक, 8 ATM, 2 बाइक, दो POS मशीन और एक राउटर बरामद किया है. इस बात की जानकारी एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने पत्रकारों को दी.

देवघर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि विभिन्न थाना क्षेत्रों में फिर साइबर आरोपी सक्रिय हो रहे हैं. सूचना पर एसपी श्री सिन्हा ने साइबर डीएसपी नेहा बाला के नेतृत्व में छापेमारी टीम गठित किया. इस टीम ने जिले के सारठ थाना अंतर्गत नया खरना, मधुपुर थाना क्षेत्र के लखनुवा, चकबगजोरा और पसिया गांव से, पालोजोरी थाना क्षेत्र के जरगड़ी गांव से तथा मोहनपुर थाना क्षेत्र के श्रीरामपुर और खड़गडीहा गांव में छापेमारी कर कुल 11 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों में से लालू अंसारी और शमीम अंसारी दोनों दोनों भाई हैं और CSP संचालक हैं जो साइबर अपराधियों का पैसा 10 फीसदी कमीशन पर निकासी करते हैं.

फर्जी बैंक अधिकारी बनकर करते थे ठगी

एसपी ने बताया कि ये लोग विभिन्न कस्टमरों को फर्जी मोबाइल नंबर से फर्जी बैंक अधिकारी बनकर एटीएम बंद होने व चालू कराने की बात कह कर अपने जाल में फंसा लेते हैं एवं संबंधित व्यक्ति के मोबाइल पर OTP भेज कर उससे हासिल कर उसके खातों को मिनटों में खाली कर देते हैं. साथ ही KYC के नाम पर भी ये ठग आमलोगों के आधार कार्ड, ATM नंबर, CVV नंबर आदि ले लेते हैं. उसके बाद बड़ी आसानी से उसे शिकार बना लेते हैं. पुलिस ने इनके पास से नकद 17500 हजार रुपये सहित 14 मोबाइल, 22 सिम, 15 पासबुक, 3 चेकबुक, 8 ATM, 2 बाइक, 2 POS मशीन, एक राउटर बरामद किया है.

ठगी मामले में हैं काफी शातिर

एसपी ने बताया कि ये सभी इतने शातिर हैं कि विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट एप के माध्यम से मनी रिक्वेस्ट भेज कर उसके जरिये OTP ले लेते हैं और उसके खाते को पलक झपकते ही खाली कर देते हैं. ये लोग एप की साइट पर जाकर उससे छेड़छाड़ करते हैं. ग्राहक सेवा अधिकारी के नंबर पर अपना नंबर एडिट कर बैंक उपभोक्ताअों को बड़ी आसानी से फांस लेते हैं. जिसमें 2 सीएसपी संचालक हैं जो साइबर अपराधियों का पैसा 10 प्रतिशत कमीशन पर निकासी करते थे.

पकड़े गये आरोपी

गिरफ्तार साइबर आरोपियों में से दीपक रजवार, अनूप दास, कुंदन दास, रंजीत दास, बीरबल कुमार दास, संतु दास, लालू अंसारी, शमीम अंसारी, राकेश कुमार, विशाल कुमार राय, प्रदीप राय शामिल हैं.

पुराना रहा है आपराधिक इतिहास

एसपी ने बताया कि आरोपी राकेश कुमार मोहनपुर थाना कांड संख्या 115/2018, और साइबर थाना कांड संख्या 47/2019 का नामजद अभियुक्त है. वहीं विशाल राय भी मोहनपुर थाना कांड संख्या 82/2019 का नामजद आरोपी हैं. शेष अन्य के बारे में छानबीन जारी हैं. प्रेस कांफ्रेंस के मौके पर साइबर डीएसपी नेहा बाला, डीएसपी हेडक्वार्टर मंगल सिंह जामुदा व दो एसआई मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें