पटना : सौर ऊर्जा से रौशन होगा अंतरराज्यीय बस अड्डा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नगर विकास व आवास विभाग के सचिव, प्रमंडलीय आयुक्त व बुडको एमडी ने किया निरीक्षण

पटना : पटना-गया मार्ग पर बन रहे अंतरराज्यीय बस टर्मिनल के ब्लाॅक ए, बी और सी का काम मार्च तक पूरा होगा. मार्च के अंत से वहां बसों के आने-जाने की सुविधा शुरू हो जायेगी. मंगलवार को नगर विकास व आवास विभाग के सचिव आनंद किशोर, प्रमंडलीय आयुक्त संजय अग्रवाल अौर बुडको एमडी चंद्रशेखर सिंह ने आइएसबीटी का निरीक्षण कर कई आवश्यक निर्देश दिये. बताया गया कि टर्मिनल के चारों ब्लॉक के ऊपर सोलर पैनल लगेंगे. बस टर्मिनल सौर ऊर्जा से जगमग होगा. सीएनजी पंप और पेट्रोल पंप खोलने की कार्रवाई शुरू है. सचिव ने बस टर्मिनल की क्षमता 211 से बढ़ा कर 250 या 300 करने को कहा.

तीन ब्लॉक के अलावा चौथे ब्लाॅक डी के निर्माण में जून-जुलाई तक समय लगेगा. उसको अभी फाइनल टच देने का काम किया जा रहा है. इसके अलावा टर्मिनल की बाउंड्री को पूरा करने के लिए बुधवार से पुलिस व प्रशासन की टीम वहां मौजूद रहेगी. टर्मिनल में चारों तरफ ग्री बेल्ट विकसित किया जायेगा. टर्मिनल में ही सीवरेज पंपिंग स्टेशन की सुविधा रहेगी. सचिव ने अंतरराज्जीय बस टर्मिनल के अलावा पहाड़ी एसटीपी, नंद लाल छपरा नाला निर्माण आदि का काम भी देखा. निरीक्षण में बुडको के मुख्य अभियंता आइसी ठाकुर व अन्य अभियंता शशिकांत आदि मौजूद थे.

बस स्टैंड : एक नजर में

नगर बस सेवा 100 बसें

सूचना केंद्र फ्री वाईफाई जोन

पेयजल दो ट्यूबवेल, ओएसटी वाटर टैंकलोरी

कौन भवन किस

तरह का होगा

आगमन भवन जी प्लस चार, 16167 वर्गमीटर

प्रस्थान भवन जी प्लस चार, 17526 वर्गमीटर

व्यावसायिक भवन जी प्लस आठ- 2335.90 वर्गमीटर

लिंक ब्लॉक जी प्लस छह, 3700.50 वर्गमीटर

वर्कशॉप जी प्लस दो, 1734.3 वर्गमीटर

फ्यूल फीलिंग स्टेशन 100 वर्गमीटर

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें