मुजफ्फरपुर : रेप केस की सुनवाई के लिए देश में 1023 नये फास्ट ट्रैक कोर्ट: रविशंकर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सुप्रीम कोर्ट के निगरानी में बच्चियों से रेप की सुनवाई
मुजफ्फरपुर : केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि महिला हिंसा मामले में जल्द से जल्द मामले का निपटारे के लिए कानून मंत्रालय गंभीर है.
पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में बच्चियों के साथ होने वाली घटनाओं की सुनवाई के लिए देश भर में 1023 नये फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित कये जोयंगे. इसके लिए 90 करोड़ रुपये की राशि दे दी गयी है़ दुष्कर्म के जघन्य मामलों की तीव्र सुनवाई और दोषियों को सजा दिलाने के लिए कानून मंत्रालय काफी गंभीर है.
मामलों का तेज निबटारा चाहता है. मंत्रालय ने देश के सभी मुख्य न्यायाधीश व मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर बच्चियों के साथ हिंसा मामले में दो महीने में सुनवाई पूरी करने के लिए कहा गया है, ताकि दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जा सके़ पटना साहिब से सांसद रविशंकर प्रसाद भाजपा के प्रदेश मंत्री राजेश कुमार वर्मा के दिवगंत मां को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके बालूघाट स्थित आवास पर पहुंचे थे.
दूसरी ओर बिहार में रेप के मामलों की तुरंत सुनवाई के लिए 54 फास्ट ट्रैक कोर्ट की कवायद चल रही है. जिन जिलों में 100 से अधिक मामले पेंडिंग में हैं वहां एक और िजन जिलों में 200 से अधिक मामले लंबित हैं वहां दो या तीन फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जायेगा. इसके अलावा थानों में वुमन हेल्प डेस्क भी बनेगी.
फास्ट ट्रैक कोर्ट के लिए 90 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत
हैदराबाद में पुलिस का काम सराहनीय : महिला आयोग की अध्यक्ष
समस्तीपुर : बिहार राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने हैदराबाद में दुष्कर्मियों के एनकाउंटर पर हैदराबाद पुलिस की सराहना की. कहा कि यह कार्य अगर कोर्ट से किया जाता, तो ज्यादा बेहतर होता.
कहा कि दुष्कर्मियों को जल्द से जल्द सजा मिलनी चाहिए थी, जो उन्हें मिला. दिलमणि मिश्रा के नेतृत्व में आयोग की चार सदस्यीय टीम रविवार को समस्तीपुर पहुंची. समस्तीपुर के बंगरा में अज्ञात किशोरी की हत्या एवं वारिसनगर के दमदरी चौर में नवविवाहिता की हत्या के बाद पेट्रोल से जला की घटना को महिला आयोग ने संज्ञान में लिया है.
सदस्यों ने समस्तीपुर पुलिस ऑफिस में एसपी विकास बर्मन एवं सदर डीएसपी प्रितिश कुमार के साथ वारिसनगर एवं बंगरा के थानाध्यक्ष के साथ बैठक की. टीम ने पुलिस पदाधिकारियों से दोनों घटनाओं की पूरी जानकारी ली. इस घटना में स्थानीय पुलिस के कार्य को उन्होंने संतोषजनक बताया. महिला आयोग की टीम दरभंगा के लिए रवाना हो गयी.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें