26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

लोगों को डेंगू से सुरक्षा के प्रति किया गया जागरूक

जिले के सभी अस्पतालों में मनाया गया राष्ट्रीय डेंगू दिवस

कटिहार. एडीज मच्छर के काटने से होने वाले रोगों में डेंगू बेहद खतरनाक रोग है. इस घातक बीमारी की वजह से हर साल देश में हजारों लोगों की जानें जाती है. डेंगू के सबसे अधिक मामले बारिश के दिनों में सामने आते हैं. लिहाजा इस समय डेंगू से बचाव को लेकर ज्यादा एहतियात बरतने की जरूरत होती है. डेंगू के प्रति आमलोगों में जनजागरूकता बढ़ाने के लिए जिले के सभी अस्पतालों में 16 मई को राष्ट्रीय स्तर पर डेंगू दिवस का आयोजन किया गया. इस दौरान सभी अस्पतालों में उपस्थित लोगों को रोग से बचाव संबंधी उपायों के प्रति जानकारी दी गयी. इस वर्ष राष्ट्रीय डेंगू दिवस का थीम कनेक्ट विथ कम्युनिटी, कंट्रोल डेंगू रखा गया है. जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ जेपी सिंह ने बताया कि डेंगू बीमारी के लिए एडीज मच्छर का लार्वा मुख्य रूप से जमे हुए साफ पानी में पैदा होता है. मानसून के शुरू होते ही लोगों को डेंगू से ग्रसित होने का संभावना बढ़ जाता है. इसलिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा मानसून के शुरुआती समय में ही स्वास्थ्य केंद्रों पर कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को इसके लिए जागरूक किया जाता है. जिससे कि लोग डेंगू से सुरक्षित रह सकें. इसके लिए हर साल 16 मई को सभी अस्पतालों में राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाते हुए उपस्थित लोगों को रोग के लक्षण, उपचार, प्रतिरोध व सावधानियों की जानकारी दी जाती है. लोगों को बरसात के मौसम में डेंगू के लक्षण दिखाई देने पर स्वास्थ्य केंद्र से स्वस्थ सुविधा का लाभ लेने के लिए जागरूक किया गया. भीडीसीओ एनके मिश्रा ने बताया कि भारत में हर साल डेंगू के मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है. इनमें से कुछ की तो मृत्यु तक हो जाती है. डेंगू के बुखार को हड्डी तोड़ बुखार के नाम से भी जाना जाता है. जो स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता है. मच्छर के द्वारा संचारित होने वाला यह बुखार कभी-कभी घातक भी सिद्ध होता है. यदि इसकी समय पर पहचान कर ली जाए तब इससे बचाव या उपचार करने में मदद भी मिल सकती है. अक्सर डेंगू के लक्षण सामान्य फ्लू या वायरल बुखार से मिलते जुलते लगते हैं. इसलिए निम्न लक्षणों के आधार पर इनकी पहचान कर ली जानी चाहिए. सही पहचान के लिए ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए. उन्होंने कहा कि जागरूकता से डेंगू के मामलों को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें