दुनिया के सामने पेश किया उदाहरण : प्रेम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गया : बिहार सरकार द्वारा आयोजित की गयी मानव शृंखला की सफलता को ऐतिहासिक बताते हुए कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने कहा कि जल जीवन हरियाली की सुरक्षा तथा नशाखोरी, दहेज प्रथा, बाल विवाह जैसी सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ पूरे विश्व को संदेश के लिए आयोजित की गयी मानव शृंखला ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि आर्थिक मानकों पर पिछड़े होने के बावजूद समाज से जुड़े विषयों पर बिहार सबसे आगे है. आज आयोजित मानव शृंखला में बच्चे, बूढ़े और जवानों को एक साथ हाथों में हाथ थामे देखना वाकई अभूतपूर्व था.

यह दिखाता है कि बिहारवासियों में सामाजिक चेतना कितनी अधिक है. डॉ कुमार ने कहा कि हमारे पूर्वजों की परंपरा थी कि हमारे लिए पेड़, पर्वत और जंगल पूजनीय है. यह भारत की सांस्कृतिक विरासत है कि हमें अपनी नदियों, पेड़ों और जंगलों की रक्षा करनी है.
आधुनिकता की अंधी दौर में जब पूरा विश्व इन मूल्यों को भूलता जा रहा है ऐसे में बिहार जैसे राज्य द्वारा इन विषयों को इतनी संजीदगी से उठाना इसे साबित करता है कि भले ही पैसे के मामले में हम गरीब हों, लेकिन ज्ञान और सोच के मामलों में हम दूसरों से मीलों आगे हैं.
मानव शृंखला में लगने वाले समस्त बिहार वासियों का धन्यवाद करते हुए डॉ कुमार ने कहा शृंखला को सफल बनाने में युवाओं, बच्चों, बुजुर्गों व महिलाओं के साथ साथ किसान, पशुपालक और मत्स्यपालकों का भी काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें