''अजब प्रेम की गजब कहानी'' : तीन साल का था इश्‍क, मंदिर में की शादी फिर प्रेमी ने की दगाबाजी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बांका: तीन साल से एक युवती से प्रेम कर रहा युवक ने घर-बार की चिंता को ताक पर रख सभी नाते-रिश्तों को दरकिनार कर अपनी प्रेमिका से मिलने उसके गांव पहुंच गया और दर्जनों ग्रामीणों के बीच मंदिर में शादी रचा ली, लेकिन वही प्रेमी मांग भरने के कुछ घंटों के बाद ही अपनी उस प्रेमिका को पहचानने व साथ ले जाने से इनकार करने लगा, जिस भगवान को साक्षी मान सात फेरे ले जीवन साथी बनाया था.

घटना बिहार के बांका जिले की है. फिलहाल प्रेमी व प्रेमिका के नोंक-झोंक का मामला महिला थाना पहुंच गया है.


बताया जा रहा है कि मुंगेर जिला अंतर्गत तारापुर थाना क्षेत्र के महेशपुर गांव निवासी रंजन कुमार सिंह ने बांका जिला अंतर्गत शंभुगंज थाना क्षेत्र के लाखा गांव के इंटर की छात्रा कुसुम कुमारी से प्रेम हो गया और प्रेम का यह सिलसिला आगे बढ़ते गया. इसी बीच रंजन कुमार अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए उसके गांव लाखा पहुंचा. जहां लड़की के परिजन व ग्रामीणों ने युवक को पकड़कर उक्त लड़की के साथ गांव स्थित मंदिर में शादी करवा दी. शादी रचाने के बाद लड़की के परिजनों ने दोनों को बांका कोर्ट परिसर लेकर आया जहां अधिवक्ता के समक्ष कोर्ट मैरिज करने की तैयारी की जा रही थी.

इसी क्रम में युवक रंजन कुमार लड़की व उसके परिजनों को कोर्ट में छोड़ कर भागने लगा. जिसके बाद लड़की व उसके परिजन युवक का पीछा करते हुए मोबाइल चोर कहकर हल्ला करने लगे. इस दौरान कुछ समय के लिए कोर्ट परिसर के बाहर बीच सड़क पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया. युवक को भागता देख कई लोगों ने उसका पीछा किया. इस दौरान थाना गेट पर मौजूद महिला थानाध्यक्ष ने पुलिस कर्मी के सहयोग उक्त युवक को पकड़ लिया. जिससे पूछताछ के दौरान पता चला कि दोनों कोर्ट मैरिज के लिए बांका आया था. इसके बाद लड़की को कोर्ट में छोड़ कर वो भागने लगा, जबकि युवक का कहना था कि मुझे लड़की वाले ने जबरदस्ती पकड़ कर शादी कराने को चाह रहे हैं.

उधर महिला थानाध्यक्ष रीता कुमारी ने मामले की जांच करते हुए युवक को मंदिर में की गयी शादी की वीडियो को देखा. इसके बाद युवक के परिजनों को फोन कर मामले की जानकारी दी.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें