फणीश्वर नाथ रेणु के पैतृक गांव स्थित स्मृति भवन में भीषण चोरी, प्रशासनिक महकमे में मचा हड़कंप

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

फारबिसगंज (अररिया) : विश्व प्रसिद्ध महान आंचलिक कथाकार स्वर्गीय फणीश्वर नाथ रेणु के पैतृक गांव हिंगना औराही गांव में सरकार के द्वारा निर्माण कराये गये उद्घाटन का बाट जोह रहे स्वर्गीय फणीश्वर नाथ रेणु स्मृति भवन के मुख्य द्वार सहित अंदर के आठ से 09 कमरों का शनिवार की रात अज्ञात चोरों ने ताला तोड़ कर भीषण चोरी की घटना को अंजाम दिया है.

चोरी के घटना के संदर्भ में स्वर्गीय रेणु जी के पुत्र पूर्व विधायक पद्म पराग राय वेणु, अपराजिता राय अप्पू व दक्षिणेश्वर राय पप्पू सहित उनके परिवार के अन्य लोगो ने बताया कि शनिवार की रात लगभग 9 बजे वे लोग रेणु स्मृति भवन में बाहर से आये कुर्सी आदि कुछ सामानों को सजाने के बाद अपने घर चले गये. जब सुबह नींद खुली तो वे लोग रेणु स्मृति भवन पहुंचे तो भवन के मुख्य द्वार सहित अंदर के आठ-09 कमरे अर्थात चार कमरा, डायनिंग रूम, काफ्रेंस भवन, कार्यालय, लाइब्रेरी, म्यूजियम आदि का ताला टूटा हुआ था. इसमें रखा सारा सामान बिखरा पड़ा था. साथ ही कुछ सामान गायब देखे तो सिमराहा थानाध्यक्ष सहित वरीय अधिकारियों को घटित चोरी की घटना की जानकारी दी.

8 से 9 लाख रुपये की सामग्री की चोरी का अंदेशा
रेणु के पुत्रों व परिजनों के अनुसार इस चोरी की घटना में अज्ञात चोरों ने रेणु स्मृति भवन से लगभग आठ से 09 लाख रुपये के सामग्रियों की चोरी कर ली है. चोरी हुए सामानों में 60 से 70 हजार रुपये मूल्य का तीन एलइडी टीवी, प्रोजेक्टर, मिक्चर मशीन, ग्राइंडर, माइक, कंप्यूटर, माउस की बोर्ड, म्यूजिक सिस्टम, किचन क्रॉकरी सेट, म्यूजियम के कुछ महत्वपूर्ण सामग्री सहित अन्य कीमती सामान शामिल हैं. घटित चोरी की घटना के संदर्भ में ऐसे कयास लगाये जा रहा हैं कि मुख्य द्वार व अंदर के कमरों का ताला तोड़ कर रेणु स्मृति भवन में भीषण चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद चोर स्मृति भवन के पीछे के दरवाजे के समीप अवस्थित चहारदीवारी को फांद कर चोर भागे होंगे. ऐसा इसलिए कि पीछे का दरवाजा भी खुला हुआ पाया गया. हालांकि घटना के बाद पुलिस ने रेणु स्मृति भवन में घटित चोरी की घटना के उद्भेदन के लिए पूर्णिया से डॉग स्क्वायड की टीम को भी बुलाया. लेकिन इससे भी कोई खास सफलता पुलिस को हाथ नहीं लग पायी है.

चोरी की घटना की जानकारी मिलते ही पहुंचे अधिकारी
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अररिया आगमन से ठीक एक दिन पूर्व ही महान आंचलिक कथाकार स्वर्गीय फणीश्वर नाथ रेणु जी के सिमराहा के हिंगना औराही गांव स्थित पैतृक गांव में निर्माण हो कर उद्घाटन की बाट जोह रहे रेणु स्मृति भवन में घटित भीषण चोरी की घटना से प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है. रेणु स्मृति भवन में भीषण में भीषण चोरी की घटना की जानकारी मिलते ही एसडीओ डॉ योगेश कुमार सागर, सर्किल इंस्पेक्टर विपिन चंद्र हांसदा, सिमराहा थानाध्यक्ष एमए हैदरी, अनि दिनेश मिश्रा, सअनि श्याम कुमार सहित अन्य ने रेणु स्मृति भवन पहुंच कर घटित चोरी की घटना के संदर्भ में रेणु जी के ज्येष्ठ पुत्र पूर्व विधायक पद्म पराग राय वेणु सहित अन्य से जानकारी व रेणु स्मृति भवन का निरीक्षण भी किया. सिमराहा थानाध्यक्ष एमए हैदरी ने कहा कि रेणु स्मृति भवन में अज्ञात चोरों के द्वारा घटित किये गये भीषण चोरी कांड का जल्द उदभेदन कर लिया जायेगा और घटना को अंजाम देने वाले भी पुलिस गिरफ्त में होंगे चूंकि इस घटना को पुलिस चुनौती के रूप में ली है.

सुनियोजित तरीके से दिया गया है चोरी की घटना को अंजाम
ऐसे समय में जब मुख्यमंत्री जी का अररिया जिला में कार्यक्रम है. उसके ठीक एक दिन पूर्व रेणु के पैतृक गांव हिंगना औराही में अवस्थित रेणु स्मृति भवन में घटित चोरी की घटना ऐसा लगता है कि सुनियोजित तरीके से चोरी की घटना को अंजाम दिया गया हो. कहा कि चोरी कांड के उद्भेदन के लिए डॉग स्क्वायड की टीम को बुलाया गया है. जल्द ही इस चोरी कांड का पुलिस उद्भेदन कर लेगी व घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात चोर पुलिस के गिरफ्त में होंगे. (डॉ योगेश कुमार सागर, एसडीओ फारबिसगंज)

पूर्णिया से पहुंची डॉग स्क्वायड की टीम
रेणु स्मृति भवन में अज्ञात चोरों के द्वारा घटित किये गये भीषण चोरी कांड मामले के उद्भेदन के लिए रविवार को पूर्णिया पुलिस लाइन से डॉग स्क्वायड की टीम रेणु जी के पैतृक गांव स्थित हिंगना औराही सिमराहा में अवास्थित रेणु स्मृति भवन पहुंचे. डॉग स्क्वायड टीम के मास्टर कांस्टेबल बृज किशोर बिहारी सहित अन्य ने मुरली नामक डॉग के गले में बेल्ट पहना कर रेणु स्मृति भवन में ले गये जहां चोरी की घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात चोरों के द्वारा स्पर्श किये गये सामग्रियों को सुंघाया गया. स्मेल को सूंघने के उपरांत डॉग मुरली रेणु स्मृति भवन से तेजी से बाहर निकल कर रेणु गांव हिंगना ओराही के विभिन्न सड़कों पर तेजी से दौड़ते हुए सबसे पहले सड़क किनारे खेत के समीप सूखे घास के ढेड़ तक पहुंचे, जहां घूमने चक्कर काटने के बाद लगभग एक किलोमीटर दूर कामत चौक के समीप चौराहा के पास जा कर बैठ गया. वहां से डॉग वापस हो गया.

डॉग के साथ-साथ उसके मास्टर बृजकिशोर बिहारी के अलावा सर्किल इंस्पेक्टर विपिन चंद्र हांसदा, थानाध्यक्ष एमए हैदरी, अनि दिनेश मिश्रा, श्याम कुमार सहित अन्य चलते रहे. जबकि डॉग के पीछे-पीछे सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण दौड़ते रहे. हालांकि डॉग के मास्टर ने बताया कि डॉग को रेणु स्मृति भवन से जो स्मेल मिला उसके मुताबिक चौराहा तक पहुंचा. लेकिन, आगे ट्रेस नहीं मिलने के कारण घूम कर बैठ गया. हालांकि समाचार प्रेषण तक डॉग को ले कर उसके मास्टर व पुलिस पदाधिकारी व जवान चोरी कांड के उद्भेदन के लिए सड़कों की खाक छान रहे है. इस मौके पर ग्रामीणों में मुख्य रूप से अविनाश आनंद, प्रमोद कुमार, सुमन कुमार, राजेश कुमार, शंकर भगत, संजीत कुमार, शिशुपाल राय, सरपंच मनव्वर आलम, शमशुल, श्यामानंद मंडल, अवधेश विश्वास सहित अन्य मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें