एशेज टेस्टः आस्ट्रेलिया के कप्तान ने कहा- डीआरएस लेने का फैसला नहीं करना निराशाजनक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
लंदनः आस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने स्वीकार किया कि पांचवें एशेज टेस्ट में दो बार डीआरएस (अंपायरों की समीक्षा प्रणाली) का इस्तेमाल नहीं करना निराशाजनक है क्योंकि दोनों से ही उन्हें विकेट मिल सकते थे. इंग्लैंड की टीम श्रृंखला 2-2 से बराबर करने की कोशिश में हैं और अंतिम टेस्ट में 382 रन की बढ़त बनाकर नियंत्रण बनाये है जबकि दो दिन बाकी हैं और उसके दूसरी पारी में दो विकेट भी बचे हैं.
शनिवार को मैच के तीसरे दिन ओवल में पेन की गलतफहमी के कारण आस्ट्रेलियाई टीम को नुकसान ही हुआ. जो डेनली जब 54 रन पर थे, तब वह मिशेल मार्श की गेंद पर पगबाधा आउट होते लेकिन आस्ट्रेलिया ने नाट आउट के फैसले की समीक्षा नहीं करने का विकल्प चुना और उन्होंने 94 रन बनाये.
बाद में कप्तान और विकेटकीपर पेन ने जोस बटलर पगबाधा की अपील पर नाट आउट के फैसले की समीक्षा नहीं कराने का फैसला किया जबकि रिप्ले में दिख रहा था कि नाथन लियोन की गेंद पर स्टंप हिट करती. बटलर तब 19 रन पर थे और उन्होंने 47 रन बनाये. पेन ने कहा कि मैं फैसला नहीं कर पाया. पता नहीं और क्या कहूं. हमारे लिये यह दुस्वप्न की तरह था. हमने गलत निर्णय लिया.
उन्होंने कहा, यह मुश्किल काम है, मैंने पूरी श्रृंखला के दौरान यही कहा है.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें