गरीबी से लड़ने का सबसे शक्तिशाली हथियार है शिक्षा : नरेंद्र मोदी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गरीबों के लिए सभी बैंकों का राष्‍ट्रीयकरण किया गया, लेकिन 40-50 सालों में भी गरीबों को बैंकों का लाभ नहीं मिला. हमारी सरकार ने गरीबों का अकाउंट बैंक में खुलवाया. इसमें सभी बैंकों ने भी हर संभव सहयोग किया. प्रधानमंत्री आज वाराणसी में रिक्‍शा चालकों और मजदूरों को संबोधित कर रहे थे. उन्‍होंने कहा कि हमने बैंकों के दरवाजे गरीबों के लिए खोला और गरीबों ने बिना पैसे के खुले खातों को सुचारु ढंग से चलाने शुरू कर दिये हैं. मोदी ने कहा कि बच्‍चों की शिक्षा ही गरीबी से लड़ने का सबसे मजबूत हथियार है. उन्‍होंने गरीबों से अपील की कि वे अपने बच्‍चों को पढाएं.

उन्‍होंने कहा कि सरकार इस दिशा में काम कर रही है कि कैसे गरीबों को आत्‍मनिर्भर बनाया जाए. वाराणसी से विपक्ष पर हमला बालते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिन्‍होंने इतने सालों तक गरीबों के खाते नहीं खुलने दिये वो आज सवाल करते हैं गरीबों के खातों का संचालन हो रहा है कि नहीं. उन्‍होंन कहा कि गरीबों के लिए हमारी सरकार ने रक्षाबंधन के अवसर पर एक विशेष बीमा योजना की शुरुआत की, जो मात्र 12 रुपये में होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ई-रिक्‍शा से काशी का भाग्य बदलेगा.

प्रधानमंत्री ने यहां रिक्‍शा चालकों द्वारा आयोजित समारोह में हिस्‍सा लिया. उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 18 करोड़ लोगों के जन धन खाते खुल चुके हैं. इस अवसर पर उन्‍होंने 602 परिवारों के बीच जनधन योजना पैकेज का वितरण किया. नरेंद्र मोदी ने 501 पैडल रिक्‍शा और 101 ई-रिक्‍शा का वितरण भी किया. 1000 रिक्‍शा-ठेला चालकों और स्‍ट्रीट वेंडरों को सोलर लालटेन भी वितरित किया गया.

वाराणसी दौरे के क्रम में नरेंद्र मोदी नें विभिन्‍न आधारभूत योजनाओं का शिलान्‍यास किया. उन्‍होंने बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) में नव निर्मित ट्रामा सेंटर का उद्घाटन भी किया. पीएलडब्‍ल्‍यू ग्राउंड में नरेंद्र मोदी ने इंटिग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्‍कीम की शुरुआत भी की. एक दिनी दौरे में मोदी ने रामनगर पोस्‍ट ऑफिस में पैसेंजर रिजर्वेशन फैसिलिटी का उद्घाटन भी किया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें