भारतीय सीमा में घुसा चीन,25 किलोमीटर के अंदर गाड़ा झंड़ा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : लद्दाख के बर्तसे इलाके में भारतीय क्षेत्र में चीनी सैनिकों के 25 से 30 किलोमीटर अंदर तक घुसने की खबर है. त्वरित कार्रवाई बल के कहने के बावजूद चीनी सैनिक पीछे नहीं हटे. पिछले साल यही स्थिति उत्पन्न हुई थी, जब चीनी सेना ने यहां अपने तंबू गाड़े थे.हालांकि भारतीय सेना ने चीनी सेना के घुसपैठ से इनकार किया है.

तीन सप्ताह तक दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति थी. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि भारतीय सैनिकों के एक गश्ती दल ने रविवार को अपने केंद्र ‘नल्ला वन’ से ‘न्यू पेट्रोल बेस’ चौकी की ओर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों को देखा. यह क्षेत्र 17,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित है.

नयी मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करते हुए भारतीय सैनिक अपने अड्डे की ओर लौट गये. सोमवार तड़के ‘न्यू पेट्रोल बेस’ चौकी तक भारतीय जवानों ने फिर से फिर गश्त की. हालांकि, उन्हें हालात में कोई परिवर्तन नहीं दिखा. वहां मैदान में पीएलए के जवान बैठे थे. उनके हाथों में झंडे थे. उन पर लिखा था, ‘यह चीनी क्षेत्र है, वापस जाओ.’

ऊधमपुर में सैन्य प्रवक्ता कर्नल एसडी गोस्वामी ने ऐसी किसी भी घटना घटने से इनकार किया है.उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच कोई साझा निर्धारित एलएसी नहीं है, जिससे सीमा का उल्लंघन होता हो. उन्होंने कहा कि भारत नियमित रूप से अतिक्रमण की बात स्थापित प्रणाली के माध्यम से चीनी पक्ष के साथ उठाता है. इनमें फ्लैग वार्ता, सीमा पर जवानों की बैठकें, भारत-चीन सीमा मामलों पर परामर्श तथा समन्वय के लिए कार्य प्रणाली जैसे सामान्य राजनयिक चैनल शामिल हैं.

तसवीर से तंबूका पता चलेगा

आशंका है कि चीनी सेना ने पिछले साल की तरह फिर से तंबू बना लिये हैं. इसका पता लगाने के लिए इलाके की सेटेलाइट तसवीर ली जा सकती है. दौलत बेग ओल्डी से सटा बर्तसे बड़े देपसांग मैदानी क्षेत्र का हिस्सा है, जिस पर भारत और चीन दोनों दावा जताते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें