28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

देश में 43 लाख के करीब कोरोना के मामले, रूसी वैक्सीन SputnikV का भारत में भी होगा ट्रायल

दुनियाभर के मुकाबले भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ने की रफ्तार काफी तेज है. रविवार को दुनियाभर के 40 फीसदी मामले भारत में सामने आए. जबकि, पिछले 24 घंटे में भारत में 75,809 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 1133 लोगों की जान भी चली गई. देश में 2 सितंबर से लगातार हर दिन एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है. कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 43 लाख के करीब पहुंच चुकी है. दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित अमेरिका में हैं. उसके बाद भारत में कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हो रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबकि देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 42 लाख 80 हजार हो चुकी है. इनमें से 72,775 लोगों की मौत हो चुकी है. एक्टिव केस की संख्या 8 लाख 83 हजार है और 33 लाख 23 हजार लोग ठीक हो चुके हैं. खास बात यह है कि संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ लोगों की संख्या तीन गुना से अधिक है. खास बात यह है वैक्सीन के तीसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल का प्राइमरी रिजल्ट अक्टूबर से लेकर नवंबर में जारी किया जाएगा. रूस की कोरोना वैक्सीन को 11 अगस्त को लॉन्च किया गया था. वैक्सीन को मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर एडेनोवायरस को बेस बनाकर तैयार किया है. रशियन डॉयरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के बयान के मुताबिक वैक्सीन का उत्पादन भारत, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, सऊदी अरब, तुर्की और क्यूबा में भी किया जाएगा.

दुनियाभर के मुकाबले भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ने की रफ्तार काफी तेज है. रविवार को दुनियाभर के 40 फीसदी मामले भारत में सामने आए. जबकि, पिछले 24 घंटे में भारत में 75,809 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 1133 लोगों की जान भी चली गई. देश में 2 सितंबर से लगातार हर दिन एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है. कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 43 लाख के करीब पहुंच चुकी है. दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित अमेरिका में हैं. उसके बाद भारत में कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हो रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबकि देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 42 लाख 80 हजार हो चुकी है. इनमें से 72,775 लोगों की मौत हो चुकी है. एक्टिव केस की संख्या 8 लाख 83 हजार है और 33 लाख 23 हजार लोग ठीक हो चुके हैं. खास बात यह है कि संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ लोगों की संख्या तीन गुना से अधिक है. खास बात यह है वैक्सीन के तीसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल का प्राइमरी रिजल्ट अक्टूबर से लेकर नवंबर में जारी किया जाएगा. रूस की कोरोना वैक्सीन को 11 अगस्त को लॉन्च किया गया था. वैक्सीन को मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर एडेनोवायरस को बेस बनाकर तैयार किया है. रशियन डॉयरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के बयान के मुताबिक कोरोना वायरस से निपटने वाली वैक्सीन का उत्पादन भारत, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, सऊदी अरब, तुर्की और क्यूबा में भी किया जाएगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें