1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. hemant soren started election campaign in west bengal called tribals for struggle to survive mtj

Bengal Chunav 2021: झाड़ग्राम में बोले हेमंत सोरेन, संघर्ष नहीं किया तो आदिवासियों का जीना मुहाल हो जायेगा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झाड़ग्राम में बोले हेमंत सोरेन, संघर्ष नहीं किया तो आदिवासियों का जीना मुहाल हो जायेगा.
झाड़ग्राम में बोले हेमंत सोरेन, संघर्ष नहीं किया तो आदिवासियों का जीना मुहाल हो जायेगा.
Prabhat Khabar

झाड़ग्राम/जामदा : भारत में आज ऐसी सरकार है, यह सरकार ऐसे नालायकों का जमावड़ा है, जिन्होंने इस देश को कुछ नहीं दिया. हमारे पूर्वजों की संपत्ति को बेच-बेचकर देश चला रहे हैं. कभी ट्रेन, कभी एयरपोर्ट, तो कभी हवाई जहाज की बिक्री हो रही है. वह दिन दूर नहीं, जब इस देश में खून सस्ता और पानी महंगा होगा.

ये बातें झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बंगाल में चुनावी शंखनाद करते हुए झाड़ग्राम के जामदा उत्तरायण क्लब मैदान में आयोजित एक जनसभा में कहीं. उन्होंने कहा कि चिंता का विषय है कि आदिवासी, दलित, अल्पसंख्यकों को चक्की में पीसा जा रहा है.

श्री सोरेन ने कहा कि आने वाले समय में हमलोगों को अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करना होगा. जिस तरीके से हमलोगों के विरुद्ध नये-नये कानून बन रहे हैं, उसमें गरीबों का जीना मुहाल हो जायेगा. कहा कि झारखंड अभी गणतंत्र दिवस के दिन हमने देखा कि भारत आजाद होने के बाद भी किसानों के साथ क्या हुआ.

हेमंत सोरेन ने कहा, ‘हमलोग कहते हैं कि भारत किसान प्रधान देश है. हमारे पूर्वजों ने ‘जय जवान जय किसान’ का नारा दिया था, लेकिन लगता है कि अब किसानों के लिए इस देश में जगह नहीं.

आदिवासी व दलित अपना अधिकार नहीं ले सके

झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि आज धन-दौलत की बदौलत चुनाव जीते जाते हैं. ये लोग पैसे की बदौलत भूमि अधिग्रहण कानून बदलते हैं, किसानों से जुड़े कानून बदलते हैं, पैसे की बदौलत देश की संपत्ति को बेचने में लगे हैं. गरीब आदिवासी-दलित समाज अपना हक व अधिकार नहीं ले पाये.

उन्होंने कहा कि यह सुखद है कि समय-समय पर हमलोगों के बीच से ऐसे लोग जरूर आते हैं, जो ऐसे सामंतवादी विचार वालों को मुंहतोड़ जवाब देते हैं. अलग राज्य का सपना देखने की सोच रखने के लिए आदरणीय गुरु जी जब आंदोलन की बात कहते थे, तो लोग हंसते थे, लेकिन जिसने लक्ष्य तय किया, वह उसे अवश्य हासिल करता है.

यह तो आरंभ है, हम फिर आयेंगे

हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा फिर इस क्षेत्र आयेगा. 70 के दशक में यहां के आंदोलन के सिपाही को जगायेंगे, ताकि इस क्षेत्र में रहने वाले गरीब आदिवासी दलित को अपने हक अधिकार से वंचित न रहना पड़े. झारखंड मुक्ति मोर्चा का यह पहला कार्यक्रम है. हमें भीड़ की चिंता नहीं. हमलोग बूंद-बूंद घड़ा भरने वाले लोगों में हैं.

श्री सोरेन ने कहा कि उनकी पार्टी ऐसा कारवां तैयार करने में विश्वास करती है, जो रास्ते से कभी डिग नहीं सकता. क्षेत्र के लोगों की जो मांग है, उसके समर्थन में नये आंदोलन की शुरुआत करेंगे. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी झामुमो बंगाल में सक्रिय होगा, जिससे हम अपने पुराने सपने को पूरा कर सकें.

हेमंत सोरेन की इस रैली में झारखंड के मंत्री चम्पाई सोरेन, विधायक समीर मोहंती, रामदास सोरेन, सुप्रियो भट्टाचार्य, जेएमएम बंगाल प्रभारी बिट्टू मुर्मू, हिदायत खान ने जनसभा को संबोधित किया.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें