1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election news bombing on trinamool rally in deganga 10 workers injured

Bengal Election News: देगंगा में तृणमूल की रैली में बमबाजी, 10 कार्यकर्ता घायल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
देगंगा में तृणमूल की रैली पर बमबाजी
देगंगा में तृणमूल की रैली पर बमबाजी
Prabhat khabar

कोलकाता: राज्य में पांचवें चरण के मतदान से पहले उत्तर 24 परगना जिले के देगंगा में फिर हिंसा की घटना हुई. तृणमूल की रैली पर हमले व बमबाजी की घटना सामने आयी है. इसमें दस लोग घायल हो गये. सभी घायलों को स्थानीय विश्वनाथपुर अस्पताल ले जाया गया. गंभीर रूप से घायल तीन लोगों को बारासात अस्पताल में स्थानांतरित किया गया है. तृणमूल का आरोप है कि आइएसएफ समर्थकों ने हमला किया है.हालांकि,आइएसएफ ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

घटना से इलाके में तनाव है. स्थिति को देखते हुए इलाके में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है. जानकारी के अनुसार, देगंगा के कलसूर इलाके में सोमवार देर शाम तृणमूल उम्मीदवार रहीमा मंडल के समर्थन में एक रैली निकाली गयी थी. रैली कामदेर काठी और दक्षिण कलसूर होते हुए चांदकाठी मोड़ से जैसे ही आगे बढ़ी, आरोप है कि उसी दौरान आइएसएफ के समर्थकों ने रैली पर पहले बम फेंका और फिर लाठी व डंडों से तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हमला कर दिया.

घटना की खबर मिलते ही पुलिस वहां पहुंची और स्थिति को नियंत्रित किया. तृणमूल नेता सिराज विश्वास ने घटना का आरोप आइएसएफ कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि घटना की जानकारी पुलिस को दी गयी है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है, जबकि आइएसएफ प्रत्याशी करीम अली ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने उनके कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की थी. इलाके की कई दुकानों व घरों में भी तोड़फोड़ की गयी.

इधर, उत्तर 24 परगना जिले के जगदल थानांतर्गत गारुलिया नगरपालिका के तीन नंबर वार्ड में सोमवार देर रात बमबाजी से इलाके में दहशत फैल गयी. एक व्यवसायी के घर के पास बमबाजी की गयी. इस दौरान व्यवसायी के घर की खिड़की क्षतिग्रस्त हो गयी है. आरोप है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने वारदात को अंजाम दिया है. मिली जानकारी के मुताबिक, पीड़ित व्यवसायी का नाम गौर चंद दास बताया गया है. घटना सोमवार रात डेढ़ बजे की है. उस वक्त घर के सभी लोग सो रहे थे, तभी अचानक तेज आवाज हुई और घरवालों की नींद खुल गयी. लोगों ने देखा कि घर की खिड़की टूट गयी है. आतंकित परिवारवालों ने तुरंत पुलिस को खबर दी.

परिवारवालों का कहना है कि घटना से आतंकित होकर रात भर जागते रहे. परिवार के सदस्य नीलरत्न दास का कहना है कि घर की खिड़की टूट गयी है. किसी से कोई विवाद भी नहीं है, पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था. आखिर क्यों और किसने बमबाजी की. परिवार की सदस्या मिनोती रानी दास का कहना है कि हमलोग कोई पार्टी भी नहीं करते हैं. पुलिस का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है. अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. वहीं, दूसरी ओर जगदल के कमलपुर इलाके में भी रात नौ बजे के करीब बमबाजी हुई.

Posted By: Aditi Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें