1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 suvendu adhikari attacks mamata banerjee at nandigram says mamta begum is saying holi mubarak make bengal mini pakistan pwn

Bengal Election 2021: तुष्टीकरण की राजनीति करती है 'दीदी', नंदीग्राम में बोले शुभेंदु बंगाल को मिनी पाकिस्तान बना देंगी 'ममता बेगम'

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नंदीग्राम में बोले शुभेंदु बंगाल को मिनी पाकिस्तान बना देंगी 'ममता बेगम'
नंदीग्राम में बोले शुभेंदु बंगाल को मिनी पाकिस्तान बना देंगी 'ममता बेगम'
Prabhat Khabar

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के लिए आज प्रचार का आखिरी दिन है. सभी पार्टियों ने आज प्रचार के आखिरी दिन अपनुी पूरी ताकत झोंक दी है. नंदीग्राम सीट पर जीत हासिल करने के लिए बीजेपी और टीएमसी दोनों के नेता नंदीग्राम के सड़कों की खाक छान रहे हैं. इस बीच आरोप प्रत्यारोप का भी दौर जारी है. शुभेंदु अधिकारी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जबरदस्त हमला बोला है.

शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ममता बनर्जी को ईद मुबारक बोलने की आदत है. इसलिए उन्होंने होली के बधाई देते हुए आप सभी को होली की बधाई नहीं कहा बल्कि होली मुबारक कहा. आगे शुभेंदु ने कहा कि इसलिए ममता बेगम को वोट मत दीजिये. क्योंकि अगर आप वोट देंगे तो बेगम बंगाल को मिनी पाकिस्तान बना देगी.

शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी के मंदिर जाने और पूजा करने पर हमला बोलते हुए कहा कि ममता बेगम को हार डर सता रहा है इसलिए वो मंदिरों में जा रही है. नंदीग्राम में दीदी सिर्फ सुफियान को जानती है.

बता दें इससे पहले ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि नंदीग्राम में किसानों के आंदोलन का नेतृत्व उन्होंने किया था. उस आंदोलन के दौरान हिंदू और मुसलमान एक साथ थे. आज शुभेंदु अधिकारी भगवा पहनकर खुद को संत समझने लगे हैं. 1998 में टीएमसी बनाने के दौरान शुभेंदु अधिकारी नजर नहीं आए थे. कई बार टिकट मिलने पर भी जीत नहीं सके. टीएमसी की सरकार बनने पर शुभेंदु पहली बार चुनाव जीते.

ममता बनर्जी शुभेंदु अधिकारी के अलावा उनके पिता शिशिर अधिकारी से भी नाराज दिखीं. ममता ने दावा किया कि शिशिर अधिकारी पहले ही मैच हार चुके हैं. नंदीग्राम से चुनाव लड़ने पर ममता बनर्जी ने कहा यह इलाका उनके दिल के करीब है. जब जमीन अधिग्रहण के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी था तो वो यहां उनके साथ खड़ी थीं. इस दौरान दोनों बाप और बेटे (शिशिर अधिकारी और शुभेंदु अधिकारी) गायब थे. कुछ दिनों बाद दोनों नंदीग्राम आए थे. आज दोनों नंदीग्राम को अपना कह रहे हैं.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें