बाराबनी बीसीटीएल में हुई छापेमारी में एक हजार टन कोयला जब्त

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

इसीएल सतर्कता विभाग और टास्क फोर्स ने की छापेमारी

रेलवे रैक से कोयला नारायण अनंत में भेजने की थी योजना
कोयला कहां से लाकर यहां जमा किया गया, कागजात न मिलने पर सारा कोयला जब्त
छापामारी में कोयले की सबसे बड़ी जब्ती बतायी गयी
आसनसोल/रूपनारायणपुर : बाराबनी थाना क्षेत्र अंतर्गत भनोड़ा लूप रेलवे साईडिंग (बीसीटीएल) में इसीएल सतर्कता विभाग और टास्क फोर्स की टीम ने संयुक्तरूप से छापेमारी कर एक हजार टन कोयला जब्त किया. कोयले की छापेमारी में यह अबतक की सबसे बड़ी जब्ती बताई जा रही है. यह कोयला रेलवे रैक से झारखंड मिहिजाम की स्वास्तिक ट्रेडर्स के माध्यम से नारायणपुर अनंत (एनआरपीए) मजफ्फरपुर बिहार में भेजना था. जिसके लिए 59 वैगन का रैक बुक हुआ था.
छापेमारी के दौरान कोयला भेजने वाली कम्पनी बोकारो फुसरो की मनोज कुमार अग्रवाल के प्रतिनिधि ने कोयले की स्रोत से जुड़े सही कागजात न दिखा पाने पर कोयला जब्त किया गया. बाराबनी थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई गई. जिसमें कोयला भेजने और कोयला पाने वाली दोनों संस्थाओं पर कानूनी प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की अपील की गई है. जब्त कोयला पुलिस से जिम्मेनामा लेकर इसीएल प्रबंधन ने भनोड़ा कोलियरी डिपू में जमा कराया.
इसीएल सूत्रों के अनुसार बीसीटीएल में पिछले कुछ दिनों से भारी मात्रा में कोयला जमा किया जा रहा था. इसकी जानकारी कम्पनी के आधिकरियों को मिलने में बाद मुख्यालय से एक टीम पांच दिसम्बर को यहां आकर जांच की. जांच के दौरान आधिकरियों को बताया गया कि यह कोयला रेलवे रैक से नारायणपुर अनंत भेजा जाएगा. जिसके लिए यहां जमा किया गया है. रेलवे की अनुमति से जुड़े सभी कागजात भी दिखाए गए. श्रीपुर एरिया प्रबंधन ने इसकी जानकारी बाराबनी थाने को देकर जांच का अनुरोध किया. कोई कार्रवाई नहीं हुई.
मामले की गंभीरता को देखते हुए इसीएल के चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक ने आधिकरियों को जांच करने को कहा. कंपनी की सतर्कता विभाग के अधिकारी और टास्क फोर्स की टीम बीसीटीएल में जांच के लिए पहुंची. यहां उपस्थित मनोज कुमार अग्रवाल संस्था के प्रतिनिधि से कागजात मांगा. प्रतिनिधि ने रेलवे रैक बुकिंग और यहां कोयला जमा करने से जुड़ी रेलवे की अनुमति से जुड़ा कागजात दिखाया.
यह कोयला यहां पर कहां से लाया गया, इससे जुड़ा कोई भी कागजात वह नहीं दिखा पाए. उन्हें समय दिया गया. समयसीमा के अंदर कागजात न दिखा पाने पर कोयले को जब्त कर बाराबनी थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया. पुलिस से कोयले का जिम्मेनामा लेकर सारा कोयला भनोड़ा कोलियरी डिपू में जमा कराने का कार्य आरंभ हुआ. थाने में दर्ज शिकायत में एक हजार टन कोयले का जिक्र किया गया है. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सारा कोयला यहां से उठाने में दो दिन का समय लग जाएगा. टास्क फोर्स के आधिकरियों ने इसे अबतक की सबसे बड़ी जब्ती बताई.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें