चार घंटे तक अधिकारियों को कार्यालय में बनाये रखा बंधक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पूर्व सुरक्षाकर्मियों ने किया काजोड़ा क्षेत्रीय कार्यालय का घेराव
िनजी सुरक्षा एजेंसी से अनुबंध समाप्त होने के कारण कार्य से वंचित
अंडाल : इस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (इसीएल) के काजोड़ा क्षेत्रीय मुख्यालय पर मंगलवार को उत्तराखंड पूर्व सैनिक कल्याण निगम लिमिटेड के पूर्व सुरक्षा कर्मियों ने नियोजन की मांग के समर्थन में प्रदर्शन किया.
इस दौरान उन्होंने किसी भी अधिकारी को कार्यालय से बाहर निकलने से रोक दिया. लक्ष्मीपुर काजोड़ा अंचल के टीएमसी नेता गौतम मजुमदार एवं यूथ टीएमसी अध्यक्ष जीतू लाल के हस्तक्षेप के बाद आंदोलन दोपहर एक बजे समाप्त हुआ.
प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे पूर्व सुरक्षा कर्मी राजेश चटर्जी, हीरा पासवान एवं तपन दास ने बताया किइसीएल प्रबंधन के साथ एजेंसी का अनुबंध बीचे 30 जून को समाप्त हो गया. इसीएल प्रबंधन ने विगत एक जुलाई से मुख्यालय सहित विभिन्न कोलियरियों में तैनात 2254 निजी सुरक्षा कर्मियों को कार्य से हटा दिया.
सभी सुरक्षा कर्मी बेरोजगार हो गये. उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों से सभी सुरक्षा कर्मी इसीएल के कार्य से जुड़े हैं. अपना और अपने परिजनों का भरण-पोषण कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नयी एजेंसी के अनुबंध के बारे में कंपनी स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कह रही है. कभी कहा जा रहा है कि उनके स्थान पर कंपनी के विभागीय कर्मियों की तैनाती की जायेगी तो कभी कहा जा रहा है कि निविदा प्रक्रिया पूरी होने में दो माह का अतिरिक्त समय लगेगा. उनका भविष्य पूरी तरह से अंधकारमय हो गया है.
लक्ष्मीपुर काजोड़ा अंचल के यूथ तृणमूल अध्यक्ष जीतू लाल ने कहा कि अंडाल थाना प्रभारी के हस्तक्षेप के बाद दोपहर एक बजे आंदोलन समाप्त हुआ. थानेदार ने आश्वस्त किया कि वे इस संबंध में काजोड़ा एरिया महाप्रबंधक के साथ बैठक कर पूरे मामले की जानकारी लेंगे. इसके बाद उचित कार्रवाई की जायेगी. श्री लाल ने कहा कि इन पूर्व सुरक्षाकर्मियों को न्याय नहीं मिला तो आने वाले समय में ईसीएल का चक्का जाम किया जायेगा. काजोड़ा क्षेत्रीय महाप्रबंधक यूके राय ने कहा कि यह मामला कंपनी मुख्यालय का है. इसकी सूचना मुख्यालय को दे दी गयी है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें