1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. two leaders expelled for indiscipline after uproar over congress candidate in deoria by election ksl

देवरिया में कांग्रेस उम्‍मीदवार को लेकर हुए हंगामा मामले में अनुशासनहीनता के आरोप में दो नेता निष्‍कासित, तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित

By Agency
Updated Date
हंगामा के दौरान कांग्रेस के सदस्य
हंगामा के दौरान कांग्रेस के सदस्य
सोशल मीडिया

देवरिया : उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की देवरिया विधानसभा सीट पर अगले माह होने जा रहे उपचुनाव को लेकर आयोजित बैठक के दौरान हंगामा मामले में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू ने कड़ी कार्रवाई करते हुए अनुशासनहीनता करनेवाले दो नेताओं को तत्‍काल प्रभाव से पार्टी से निष्‍कासित कर दिया है. मालूम हो कि देवरिया विधानसभा सीट पर अगले माह होने जा रहे उपचुनाव को लेकर आयोजित बैठक के दौरान उससमय हंगामा हो गया, जब पार्टी प्रत्याशी के नाम की घोषणा से नाराज एक महिला नेत्री ने राष्‍ट्रीय सचिव और प्रदेश प्रभारी सचिन नाइक पर हमला बोल दिया था.

कांग्रेस की ओर से जारी एक बयान में अजय कुमार लल्‍लू ने इस घटना को कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने की साजिश बताया है. अजय कुमार के निर्देश पर इस घटना की जांच के लिए तीन सदस्‍यीय जांच समिति का गठन किया गया है. देवरिया के प्रभारी और कांग्रेस के प्रदेश सचिव कौशल कुमार त्रिपाठी ने बताया कि तीन सदस्‍यीय जांच दल में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सदस्‍य तलत अजीज, प्रदेश महिला अध्‍यक्ष पूर्वी जोन शहला अहरारी, प्रदेश उपाध्‍यक्ष पूर्वी महिला कांग्रेस चंद्रकला पुष्‍कर को शामिल किया गया है. यह समिति तीन दिनों के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट प्रदेश अध्‍यक्ष को सौंपेगी.

कौशल त्रिपाठी ने बताया कि अनुशासनहीनता करनेवाले दीनदयाल यादव और अजय कुमार सैंथवार को तत्‍काल प्रभाव से पार्टी से निष्‍कासित किया गया है. उपचुनाव के लिए पार्टी द्वारा मुकुंद भास्कर मणि को प्रत्याशी बनाये जाने से यादव नाखुश थीं. कांग्रेस सचिव सचिन नाइक की मौजदूगी में बैठक में हुई हाथापाई और विवाद का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. टिकट ना मिलने से आक्रोशित तारा यादव बैठक में सचिन नाइक से हाथापाई करने लगीं.

कुछ प्रत्‍यक्षदर्शियों ने बताया कि इस दौरान नाइक पर तारा यादव ने गुलदस्ता भी फेंका. कांग्रेस पार्टी की नेता तारा यादव देवरिया सीट से मुकुंद भास्कर मणि को टिकट दिये जाने से काफी नाराज थीं. यादव का आरोप है कि मुकुंद बलात्कार के एक मामले में आरोपित रहें हैं, इसलिए उनको टिकट नहीं दिया जाना चाहिए, जबकि मुकुंद भास्कर मणि का कहना है कि आरोप लगा था लेकिन मामला बहुत पहले ही समाप्त हो चुका है.

बताया जाता है कि खुद टिकट की दावेदार रहीं तारा यादव गुलदस्ता लेकर कार्यालय के अंदर पहुंचीं. आरोप है कि तारा यादव ने गुलदस्ता देने के बहाने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सचिन नाइक के साथ हाथापाई की. सचिन नाइक से हो रही हाथापाई को देखकर पार्टी कार्यकर्ता भड़क गये. नाराज कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर तारा यादव को पीटा और उनको धक्‍का देकर बैठक से बाहर निकाल दिया. बाद में कांग्रेस की इस महिला नेता ने पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत चार नामजद और अन्य के खिलाफ मारपीट और छेड़खानी करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है. इस संबंध में पूछे जाने पर कोतवाल चंद्रभान सिंह ने बताया की तहरीर मिली है, मामले की जांच की जा रही है अभी कोई मुकदमा पंजीकृत नहीं किया गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें