1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. doctors and staff doing dialysis of another corona positive woman from hindpeedhi have gone to quarantine the district administration has sealed the doctors clinic

Corona पीड़ित महिला का डायलिसिस करनेवाले डॉक्टर व कर्मचारी Quarantine

By Shaurya Punj
Updated Date
कोरोना पीड़ित महिला का डायलिसिस करनेवाले डॉक्टर व कर्मचारी क्वारेंटाइन
कोरोना पीड़ित महिला का डायलिसिस करनेवाले डॉक्टर व कर्मचारी क्वारेंटाइन

रांची : हिंदपीढ़ी से मिली दूसरी कोरोना पॉजिटिव महिला का डायलिसिस करनेवाले डॉक्टर व कर्मचारी क्वारेंटाइन में चले गये हैं. जिला प्रशासन ने डॉक्टर का क्लिनिक सील कर दिया है. वहीं, डॉक्टर के करीब 25 से 30 कर्मचारियों को भी क्वारेंटाइन कर दिया गया है. डॉक्टर व कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि वह जांच नहीं होने तक किसी अन्य व्यक्ति के संपर्क में नहीं आयें.

जानकारी के अनुसार, मंगलवार को डॉक्टर व कर्मचारियों को रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में जाकर अपना सैंपल देंगे. डॉक्टरों व कर्मचारियों को कहा गया है कि अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है, तो उनको होम क्वारेंटाइन में रहना होगा. अगर डॉक्टर व कोई कर्मचारी कोरोना से पीड़ित पाये जाते हैं, तो उन्हें रिम्स के कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया जायेगा. सूत्रों की मानें तो क्लिनिक में ही डाॅक्टर व कर्मचारी को रखा गया है. डायलिसिस करानेवाले अन्य मरीज भी आशंकित किडनी के मरीज का डायलिसिस करनेवाले डॉक्टर के क्लिनिक के अन्य मरीज भी आशंकित हैं.

क्लिनिक सील करने की सूचना मिलने पर अन्य किडनी मरीज परेशान हैं. उनको चिंता सता रही है कि कहीं वह भी कोरोना की चपेट में तो नहीं आ गये हैं. सबसे ज्यादा परेशानी उन मरीजों को हो रही है, जो कोरोना पीड़ित महिला के बाद डायलिसिस कराने आते थे. डायलिसिस करानेवाले मरीज जब उस डॉक्टर के क्लिनिक का पर्ची लेकर जायेंगे, तो कोई अस्पताल व क्लिनिक उनका इलाज करने से कतरायेगा. अब इमरजेंसी सेवा भी देने से कतरायेंगे डॉक्टर राजधानी के सरकारी व निजी अस्पताल का अोपीडी करीब 15 दिन से बंद हैं. यहां सिर्फ इमरजेंसी सेवा दी जा रही है. इमरजेंसी सेवा देनेवाले डॉक्टरों भी अब मरीजों काे सेवा देने से कतरायेंगे. राजधानी के एक डॉक्टर ने बताया कि ऐसे में तो इमरजेंसी सेवा देना भी खतरे से खाली नहीं है. जब हम ही इलाज करने के लायक नहीं रहेंगे, तो इलाज कैसे करेंगे. सूत्रों ने बताया कि आइएमए इस नये मामला के आने के बाद मंगलवार को बैठक कर इस मामले पर फैसला लेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें