आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों का बनाया जायेगा म्यूजियम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची: झारखंड के आदिवासी समुदाय के स्वतंत्रता सेनानियों का संग्रहालय (म्यूजियम) बनेगा. संग्रहालय में इन सेनानियों के भारत की स्वतंत्रता में उनके योगदान को याद किया जायेगा. संग्रहालय के लिए अब तक कुल नौ आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों का नाम तय किया गया है.

चुने गये स्वतंत्रता सेनानियों में बिरसा मुंडा, तिलका मांझी, वीर बुधु भगत, जतरू टाना भगत, तेलंगा खड़िया, सिदो-कान्हू, नीलांबर-पीतांबर, दिवा किशुन व गया मुंडा शामिल हैं. म्यूजियम में इन स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी जायेगी. संग्रहालय रांची या दुमका में बनना प्रस्तावित है. हालांकि, स्थल चयन पर अंतिम निर्णय नहीं किया जा सका है. कल्याण विभाग जमीन की तलाश कर रहा है.
केंद्र सरकार करेगी आर्थिक सहयोग
केंद्र सरकार के निर्देश पर कल्याण विभाग ने आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों का म्यूजियम तैयार करने का प्रस्ताव तैयार किया है. संभवत: अगले वित्तीय वर्ष में संग्रहालय का निर्माण डेढ़ से दो करोड़ रुपये तक से किया जायेगा. म्यूजियम निर्माण में केंद्र सरकार आर्थिक सहयोग प्रदान करेगी. यहां यह उल्लेखनीय है कि आदिवासी समुदाय और उनके रहन-सहन, खान-पान व बोली की जानकारी देनेवाला एक संग्रहालय पहले से ही राजधानी के मोरहाबादी में स्थित है. डॉ रामदयाल मुंडा जनजातीय शोध संस्थान, मोरहाबादी के परिसर में खाली पड़ी जमीन को नये संग्रहालय के रूप में विकसित किया जा सकता है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें