1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. jharkhand news investigation committee constituted in the case of solar pump on 90 percent subsidy to farmers read why the minister of drinking water and sanitation gave the order gur

Jharkhand News : किसानों को 90 फीसदी अनुदान पर मिलनेवाले सोलर पंप मामले में जांच समिति गठित, पढ़िए पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री ने क्यों दिया जांच का आदेश ?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : किसानों को 90 फीसदी अनुदान पर मिलनेवाले सोलर पंप मामले में जांच समिति गठित
Jharkhand News : किसानों को 90 फीसदी अनुदान पर मिलनेवाले सोलर पंप मामले में जांच समिति गठित
फाइल फोटो

Jharkhand News : गढ़वा (विनोद पाठक) : कुसुम योजना के तहत झारखंड अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (ज्रेडा) की ओर से किसानों को सिंचाई के लिये 90 प्रतिशत अनुदान पर मिलनेवाले सोलर पंप के लिए लाभुकों का चयन एक बार फिर से सवालों के घेरे में आ गया है. इसमें हुई कथित गड़बड़ी की एक बार फिर से जांच शुरू की जा रही है. पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर के आदेश पर उपायुक्त ने दो सदस्यीय जांच समिति गठित की है.

कुसुम योजना में मुख्य रूप से लाभुकों के चयन के तरीके पर सवाल उठाया गया है. इसके अनुसार कृषि विभाग के कुछ कर्मियों द्वारा फॉर्म भरने के बाद लाभुकों से चयन कराने के एवज में 25-25 हजार रूपये लिये गये है. जिन लोगों ने राशि नहीं दी, उनके नाम की अनुशंसा नहीं की गयी, जबकि जिन लोगों ने राशि जमा की, उनका चयन करते हुये विभाग की ओर से इस योजना का लाभ दिये जाने की अनुशंसा की गयी है. यह योजना वित्तीय वर्ष 2019-20 की थी.

उस समय ही लाभुकों से फॉर्म आदि भरवाये गये थे, लेकिन विभाग के कर्मियों की ओर से राशि की उगाही की सूचना फैलने के बाद सांसद बीडी राम व तत्कालीन गढ़वा विधायक सत्येंद्रनाथ तिवारी ने इस मामले को उठाया था. इस बीच विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी हो गयी और यह योजना लंबित रही. चुनाव संपन्न होने के बाद इसके लाभुकों का चयन करके ज्रेडा को सूची भेजी की गयी. वहां से लॉकडाउन के बीच यह मामला एक बार फिर से लंबित रहा.

बीते अगस्त महीने में ज्रेडा की ओर से लाभुकों से उनके हिस्सेदारी की 10 प्रतिशत राशि का ड्राफ्ट जमा करके भेजने संबंधित पत्र उपायुक्त एवं कृषि विभाग को भेजी गयी है. इस पत्र के आने के बाद अब एक बार फिर से पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री सह गढ़वा विधायक मिथिलेश ठाकुर ने आपत्ति जतायी है. उन्होंने उपायुक्त को निर्देश देकर इसके लाभुकों के चयन की जांच कराने को कहा है.

मंत्री के निर्देश पर उपायुक्त राजेश कुमार पाठक ने जिला कल्याण पदाधिकारी एवं जिला पंचायती राज पदाधिकारी की दो सदस्यीय जांच टीम गठित की है. यह टीम इस योजना के लाभुकों के चयन के अलावा अन्य मामले की जांच करेगी.

इस संबंध में जांच टीम के सदस्य जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार ने कहा कि उन्हें इस जांच से संबंधित सूचना मिली है, लेकिन अभी तक लिखित पत्र की कॉपी उन्हें उपलब्ध नहीं हो सकी है. वे जल्द ही निर्देश के आलोक में जांच शुरू करेंगे.

इस संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी लक्ष्मण उरांव ने बताया कि विभाग में कुसूम योजना के लाभुक चयन में राशि उगाही किये जाने की सूचना उन्हें नहीं है, लेकिन इस मामले की जांच में वे अधिकारियों का पूरा सहयोग करेंगे.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें