पिटाई और प्रताड़ना से तंग आकर घर से भागी थी बच्ची

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची : बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मिली दास नामक बच्ची के मामले में स्वत: संज्ञान लिया है. आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर शुक्रवार को बच्ची से मिलने प्रेमाश्रय शेल्टर आश्रम पहुंची. इस दौरान बच्ची ने अध्यक्ष आरती कुजूर को अपने जख्म दिखाये. आरती कुजूर केा बच्ची ने बताया कि वह अरगोड़ा अशोक कुंज स्थित ज्योति आंटी के यहां रहती थी.
प्रताड़ना से तंग आकर वह उनके घर से भागी थी. ज्योति आंटी उसकी पिटाई करती थी. इसके अलावा वह उससे मालिश कराने, पैर दबाने, कपड़ा धोने, झाड़ू पोंछा का काम कराती थी. थोड़ी भी गलती होने पर बहुत मारती थी़ मिली को ठीक तरीके से खाना भी नहीं दिया जाता था. जिस दिन मिली घर से भागी थी, उस दिन भी उसे डंडे से काफी मारा गया था. इससे उसके ओंठ से खून निकलने लगा था. ओंठ पर अभी भी जख्म हैं.
आरती कुजूर ने बताया कि मिली दास ज्योति आंटी के घर नहीं जाना चाहती है. उसने हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करने की इच्छा जतायी है. आयोग अध्यक्ष ने इस मामले में बाल कल्याण समिति रांची को मिली दास के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें