दीक्षा व साहिल ने दर्शकों को झुमाया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुंगेर : मुंगेर जिला स्थापना दिवस सह मुंगेर महोत्सव का तीन दिवसीय समारोह गुरुवार को स्थानीय व बाहर से आये कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किये गये सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ सम्पन्न हो गया. समापन के मौके पर गायिका दीक्षा तूर तथा गायक शाहिल सोलंकी ने सुरों के संगम से कार्यक्रम में समां बांध दिया.

दोनों ने बारी-बारी से एक से बढ़ कर एक सूफी, पंजाबी, पॉप सहित कई अन्य नये-पुराने गानों की प्रस्तुति कर दर्शकों को देर रात तक खूब झुमाया. इससे पूर्व मगध संगीत संस्थान पटना के कलाकारों ने एक से बढ़ कर एक भाव नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लिया.
शाहिल सोलंकी ने 'दमा दम मस्त कलंदर...' सूफी गीत से कार्यक्रम का शुभारंभ किया. इसके बाद उन्होंने 'गुलाबी आंखें जो तेरी देखी...' गीत की जब प्रस्तुति की तो दर्शक दीर्घा में बैठे श्रोता झूमने लगे.
शाहिल सोलंकी ने 'दिल ने मारी इंट्री...' सहित कई अन्य पॉप व पंजाबी गीतों से कार्यक्रम के दौरान दर्शकों को बांध दिया. वहीं हरियाणा से आयी दीक्षा तूर ने 'मेरे रश्के कमर...' गीत के साथ जैसे ही स्टेज पर इंट्री की, वैसे ही उपस्थित श्रोता दर्शक खड़े होकर तालियों के गड़गड़ाहट से उसका अभिवादन करने लगे. उसके बाद दीक्षा तूर ने जब 'कजरा मोहब्बत वाला...' गाना प्रस्तुत किया तो बुर्जग दर्शक श्रोता भी अपने आप को थिरकने से नहीं रोक पाये.
शाहिल सोलंकी तथा दीक्षा तूर ने कई डूएट सांग भी प्रस्तुत किया. इससे पूर्व पटना से आये मगध संगीत संस्थान के कलाकारों ने भाव नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भाव विभोर कर दिया. कलाकार सोनाली सरकार, खुशबू, दिव्या कुमारी, निशा, अलिसा, ओमप्रकाश, अरुण कुमार, देव कुमार तथा रंजीत ने 'ऐसन आपन बा बिहार..., झिझिया-चल चल रे डैनियां... व जट-जटिन' सहित अन्य गीतों पर बेहतरीन भाव नृत्य प्रस्तुत किया.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें