जल-जीवन-हरियाली व मुंगेर कल आज और कल'' विषय पर सेमिनार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुंगेर : मुंगेर महोत्सव के मौके पर मुख्य कार्यक्रम स्थल पोलो मैदान में 'जल-जीवन-हरियाली तथा मुंगेर आज और कल' विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया. सेमिनार की अध्यक्षता जिलाधिकारी राजेश मीणा ने की. सेमिनार में डॉ कविता वर्णवाल, व्याख्याता प्रो. लव सिंह, व्याख्याता प्रो. जयंत सिंह, पर्यावरण विद किशोर जायसवाल तथा पर्यावरण विद जया देवी ने भाग लिया.

वक्ताओं ने मानव जीवन के लिए जल व हरियाली का महत्व बाताते हुए कहा कि जब तक जल संरक्षित है, तब तक ही हम हरियाली की कल्पना कर सकते हैं और जब तक जल व हरियाली है, तभी तक जीवन की कल्पना की जा सकती है.
इसलिए हमें भविष्य के लिए जल व हरियाली के संरक्षण के प्रति जबावदेह बनना पड़ेगा. जबकि 'मुंगेर कल आज और कल' विषय पर आयोजित सेमिनार में सेवानिवृत्त प्राचार्य रामचरित्र सिंह, सेवानिवृत्त व्याख्याता प्रो. शिवरानी संधवार, रहमानी फाउंडेशन के मो. जफर अब्दुर्र रउफ रहमानी ने भाग लिया.
वक्ताओं ने मुंगेर के अतीत की चर्चा करते हुए यहां के स्वर्णिम इतिहास का बखूबी बखान किया तथा वर्तमान में मुंगेर की हो रही उपेक्षा पर भी तंज कसा. वक्ताओं ने कहा कि मुंगेर काफी पुराना जिला है, इस जिला से कट कर छह अन्य जिले बन गये, जो आज काफी विकसित भी हो चुका है. उन जिलों के सामने मुंगेर का विकास काफी पीछे रह गया है. ऐसे में जरुरत है कि मुंगेर के वर्तमान को संवार कर भविष्य को स्वर्णिम बनाया जाये.
यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं है, जिसे विकसित कर दिया जाये तो मुंगेर पर्यटकों के आकर्षण का सबसे प्रिय जगह हो जायेगा. सेमिनार के दौरान प्रश्नोत्तरी काल में उपस्थित विभिन्न विद्यालयों के बच्चों ने वक्ताओं से विषय बिंदु पर कई सवाल पूछे. जिसमें टॉउन उच्च विद्यालय की छात्रा नगमा परवीन प्रथम, छात्र रितिक कुमार तथा बैजनाथ बालिका उच्च विद्यालय की छात्रा प्रियम कुमारी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें