लोकसभा चुनाव-2019 : कांग्रेस को मिला जीत का फॉर्मूला! गोहिल ने कहा- सरकार बनने पर किसानों का कर्ज होगा माफ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बक्सर : मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के बाद उत्साहित कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में जीत का फॉर्मूला मिल गया है. किसानों की कर्ज माफी की घोषणा करने के बाद कांग्रेस को विधानसभा चुनावों में फायदा हुआ और सरकार बनी. वहीं, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में आयोजित किसान रैली को संबोधित करते हुए जीत का श्रेय किसानों और युवाओं को देते हुए कहा है कि राजस्थान सरकार ने किसानों का कर्जा माफ करके दिखा दिया. मालूम हो कि मध्य प्रदेश में सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी किसानों के कर्ज माफ करने के दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर दिये थे. अब बिहार के कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने बक्सर जिला मुख्यालय में आयोजित किसान महापंचायत में घोषणा की कि बिहार में कांग्रेस की सरकार बनेगी, तो किसानों की समस्या पूरी तरह खत्म हो जायेगी. सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ किया जायेगा.

जानकारी के मुताबिक, बक्सर जिला मुख्यालय स्थित किला मैदान में कांग्रेस द्वारा आयोजित किसान महापंचायत में किसानों को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शक्ति सिंह गोहील ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है. उद्योग आधारित देश नहीं है. आजादी के बाद हमारे देश के नेताओं ने काफी सोच-विचार कर देश को कृषि प्रधान देश घोषित किया था. लोगों की भूख उद्योग कल-कारखानों में उत्पादित वस्तुओं से नहीं मिटती, बल्कि हमारे किसानों द्वारा खेतों में उपजाये जानेवाले अनाजों से मिटती है, पशुपालकों के दूध से मिटती है. कांग्रेस की सरकार बनेगी, तो किसानों की समस्या पूरी तरह खत्म हो जायेगी. सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ किया जायेगा.

उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की कही थी, लेकिन अपने कार्यकाल में नोटबंदी लाकर 1 करोड़ 30 लाख लोगों का रोजगार छीनने का काम किया है.वहीं, कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि एआइसीसी के सचिव विक्रम सिंह राठौर ने कहा कि बिहार में किसानों की जो स्थिति कायम है, वह भाजपा की पूंजीवादी नीति एवं नीतीश कुमार की उपेक्षित नीति के कारण है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनते ही किसानों की खरीद को पैक्स के माध्यम से की जायेगी. खरीद की जाने वाली फसलों की कीमत किसानों के खाते में बिना किसी बिचौलिये के किसानों के खाते में 48 घंटे में दे दी जायेगी. कांग्रेस बिहार में 40-50 साल की किसानों की इस लचर व्यवस्था को दुरुस्त करेगी.

कार्यक्रम के संयोजक सदर विधायक संजय कुमार तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी ने किसानों की लड़ाई अपने पूरे क्षमता तक लड़ने की बात कही. उन्होंने कहा कि यदि सरकार जिले को सूखाग्रस्त घोषित नहीं करती है, तो इसकी लड़ाई हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक पीआइएल दर्ज कराकर लड़ी जायेगी. इसके साथ ही उन्होंने किसानों की समस्याओं को लेकर प्रगतिशील किसानों की एक समिति बनायी है. समिति जिले के किसानों की समस्याओं को दूर करने में सदर विधायक को सहायता करेगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें