1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar corona update covid 19 second wave bihar will suffer financial loss of 6222 crores due to second wave of corona free corona vaccination in bihar will cost so many rupees upl

कोरोना की दूसरी लहर से बिहार को होगा 6,222 करोड़ का आर्थिक नुकसान, मुफ्त कोरोना वैक्सीन पर खर्च होंगे इतने रुपये

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

कोरोना की दूसरी लहर से बिहार को होगा 6,222 करोड़ का आर्थिक नुकसान
कोरोना की दूसरी लहर से बिहार को होगा 6,222 करोड़ का आर्थिक नुकसान
Prabhat khabar

Bihar Corona Update, COVID-19 second wave: राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि कोविड की दूसरी लहर (, Coronavirus Second Wave in Bihar) के मुकाबले के लिए केंद्र एवं राज्य सरकारों को भारी वित्तीय बोझ उठाना होगा. एसबीआई के मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्य कांति घोष के आंकलन के अनुसार कर्फ्यू, आंशिक लॉकडॉउन और आवाजाही पर रोक से जहां राज्यों को एक लाख 50 हजार करोड़ का आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा.

वहीं बिहार को करीब छह हजार 222 करोड़ की क्षति होगी. बिहार के 18 से 44 वर्ष के पांच करोड़ 47 लाख नागरिकों के दो डोज मुफ्त टीकाकरण यानी 11 करोड़ टीके पर परिवहन एवं अन्य रखरखाव आदि के खर्चे मिलाकर अनुमानत चार हजार 500 करोड़ रुपये व्यय होंगे. क्योंकि टीका निर्माता कंपनियों ने एक डोज की कीमत 400 रुपये निर्धारित की है.

उन्होंने कहा कि एसबीआई के मुख्य आर्थिक सलाहकार के आंकलन के अनुसार महाराष्ट्र को सर्वाधिक 82 हजार करोड़, मध्यप्रदेश को 21 हजार करोड़ एवं राजस्थान को 17 हजार 237 करोड़ का आर्थिक नुकसान कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लगाई गई विभिन्न पाबंदियों को लेकर उठाना पड़ेगा.

घोष की रिपोर्ट के अनुसार 1 से 12 अप्रैल के बीच पश्चमी रेलवे से तीन लाख 23 हजार श्रमिक बिहार, यूपी लौट कर आये, जबकि सेंट्रल रेलवे के मुताबिक चार लाख 70 हजार श्रमिक लौटे. कोविड के दूसरे चरण का गंभीर असर आर्थिक गतिविधियों पर पड़ना लाजिमी है.

बिहार में रिकवरी रेट 111 फीसद के पार

सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर से उत्पन्न संकट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक हुई. इसके बाद केंद्र सरकार ने मेडिकल ऑक्जीजन, उसके उपकरण और वैक्सीन को तीन महीने के लिए कस्टम ड्यूटी और सेस से मुक्त कर दिया. इससे इन जीवनरक्षक वस्तुओं के दाम कम होंगे और लोगों को तत्काल बडी़ राहत मिलेगी.

उन्होंने कहा कि औषधि महानियंत्ररक (डीसीजीआई) ने कोरोना में कारगर नई दवा विराफिन के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी. इसके इस्तेमाल करने पर ऑक्सीजन की जरूरत बहुत कम पड़ने का दावा किया गया है. कहा कि शुक्रवार को देश भर में दो लाख 20 हजार संक्रमित ठीक हुए. रिकवरी रेट 111.20 प्रतिशत हुई. यह महामारी के गहन अंधेरे में हौसले की चमकती लकीर है, लेकिन देश का मनोबल गिराने वाले इसे नहीं देखना चाहते.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें