भागलपुर : कलह का फायदा उठाने की फिराक में प्रतिद्वंद्वी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
विजय आनंद
भागलपुर जिले में चुनाव को लेकर जो भी गोलबंदी थी, लगभग पूरी हो चुकी है, लेकिन कुछ क्षेत्रों में अब भी मतदाताओं की चुप्पी प्रत्याशियों को बेचैन किये हुए है. भागलपुर विधानसभा सीट पर नामांकन के समय भाजपा के बागी मामले ने खूब जोर पकड़ा था, लेकिन प्रचार थमने से एक दिन पहले तक स्थितियां काफी बदली-बदली सी नजर आ रही हैं. इससे पहले कांग्रेस ने कई बड़े नेताओं को प्रचार में उतार कर अपनी स्थिति पूरे जिले में मजबूत किया. जदयू-राजद ने भी छोटी-बड़ी सभाएं कर मत को अपने पाले में करने की पूरी कोशिश की. शुक्रवार को स्मृति ईरानी भी भाजपा के पक्ष में प्रचार करने भागलपुर शहर पहुंचीं. सुशील मोदी ने रोड शो कर भाजपा खेमे में उत्साह का संचार किया है.
यहां यह बात उल्लेखनीय है कि भाजपा के स्टार प्रचारक जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जाते थे, लेकिन शहर में कोई सभा नहीं हो पाती थी. इसे अंदरुनी कलह का मामला भी जनता के बीच समझा जा रहा था.
सुलतानगंज में गंठबंधन व राजग आमने-सामने दिख रहा है. वैसे यहां निर्दलीय खेल बिगाड़ने के चक्कर में हैं. सुलतानगंज विधानसभा क्षेत्र में जदयू प्रत्याशी सुबोध राय व रालोसपा हिमांशु प्रसाद जंग जीतने के लिए पूरी कोशिश में हैं. निर्दलीय प्रत्याशी ललन कुमार व जन अधिकार पार्टी के प्रत्याशी हिमांशु चक्रपाणि इनके रास्ते के रोड़े हैं.
भागलपुर के बजरंगबली मंदिर के समीप पेड़ के छांव में कुछ दैनिक मजदूर खड़े हैं. उनसे चुनाव पर चर्चा शुरू हुई कि टोली के पीछे खड़ा युवक तपाक से बोल पड़ता है. ‘वोट गिरावै से की फैयदा. भैय्या नेता सीनी हमरो सभ्हों के घरों में नैय आवै छयै’. पास खड़े एक वृद्ध कामगार (मदरौनी निवासी) बोल पड़ते हैं, गांव में बाढ़ के कारण पशुओं को चारा नहीं मिल रहा है. हमलोगों को काम नहीं मिल रहा है. गोपालपुर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के अंदरुनी कलह का सीधा फायदा जदयू प्रत्याशी नरेंद्र कुमार नीरज उठाने की फिराक में दिख रहे हैं.
उनकी राह में निर्दलीयअमित राणा खड़े हैं. बिहपुर में भाजपा के कुमार शैलेंद्र को राजद प्रत्याशी वर्षा रानी चुनौती दे रही हैं. यहां दोनों दल के निर्दलीय प्रत्याशी चुनौती बने हुए हैं. नवगछिया बाजार के कारोबारी उदय शंकर चुनावी गणित समझाते हैं कि कैसे यादव व मंडल मतदाता गोपालपुर में निर्णायक साबित होंगे. शंकर राय कहते हैं जाति बहुल वोटर के निर्णायक होने से क्या बदलने वाला है. खैरपुर, राघोपुर, सैदपुर, अठगामा, मदरौनी का इलाका कटाव से प्रभावित हो रहा है. चुनावी चर्चा में यह मुद्दे गौण हैं. प्रत्याशी मुद्दों पर हैं.
कहलगांव विधानसभा क्षेत्र का आठ बार प्रतिनिधित्व कर चुके सदानंद ंिसह को लोजपा के प्रत्याशी नीरज कुमार मंडल चुनौती दे रहे हैं. लेकिन,यहां निर्दलीय प्रत्याशी पवन कुमार यादव भी हैं. पीरपैंती का एनएच-80 जजर्र है. बाढ़ के दिनों में पूरा क्षेत्र टापू बन जाता है.
पीरपैंती विधानसभा क्षेत्र में भी भाजपा के कलह का लाभ उठाने की फिराक में राजद के रामविलास पासवान हैं.नाथनगर में जदयू के अजय मंडल का रास्ता जअपा के अबू कैसर रोक रहे हैं. लोजपा प्रत्याशी अमर सिंह कुशवाहा का खेमा इससे खुश है. चंपानगर बाजार के मो हनीफ कहते हैं यहां की बनी सिल्क साड़ियां मुंबई-दिल्ली में पांच-दस हजार में बिक रही है. लेकिन कामगारों को उचित मजदूरी नहीं मिलती है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें