1. home Hindi News
  2. national
  3. india launches malabar naval exercise 2020 with quad countries in bay of bengal sur

Malabar Naval Exercise 2020: चीन से विवाद के बीच भारत ने दिखाई ताकत! QUAD देशों के साथ शुरू किया युद्धाभ्यास

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मालाबार नौसैनिक युद्धाभ्यास 2020
मालाबार नौसैनिक युद्धाभ्यास 2020
Photo: Twitter

विशाखापत्तनम: मालाबार नौसेना युद्भाभ्यास का 24वां संस्करण शुरू हो गया. युद्धाभ्यास 3 से 6 नवंबर के बीच होगा. बंगाल की खाड़ी स्थित विशाखापत्तनम पोर्ट से युद्धाभ्यास की शुरुआत हो गई है. इस युद्धाभ्यास में 4 देशों की नौसेना भाग ले रही है. भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के युद्धपोत साथ मिलकर युद्धाभ्यास कर रहे हैं. भारत के रक्षा मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी.

इन देशों की नौसेना ले रही है भाग

जानकारी के मुताबिक अमेरिकी नौसेना का गाइडेड मिसाइल से लैस विध्वंसक युद्धपोत जॉन एस मैक्केन, ऑस्ट्रेलियाई नौसेना का लंबी दूरी की फ्रिगेट तकनीक वाला एचएमएएस बैलास्ट, जापानी नौसेना का विध्वंसक युद्धपोत जेएस ओनमी और भारतीय नौसेना की कई इकाइयां भाग ले रही हैं. भारतीय रक्षा मंत्रालय ने युद्धाभ्यास की तस्वीरें साझा की हैं.

मालाबार युद्धाभ्यास का इतिहास

बता दें कि बीते काफी सालों से बंगाल की खाड़ी या फिर अरब सागर में भारत और अमेरिका की नौसेना युद्धाभ्यास करती आई है. इसे मालाबार युद्धाभ्यास कहा जाता है. कुछ सालों बाद हिंद प्रशांत क्षेत्र महासागर में चीन की बढ़ती दखलअंदाजी, दक्षिण चीन सागर में दादागिरी, जमीनी सीमा पर विस्तारवादी नीतियों और आक्रामक आर्थिक नीतियों के खिलाफ जापान, भारत, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने एशिया पैशिफिक लोकतांत्रिक देशों के समूह क्वाड का गठन किया.

क्वाड समूह के सभी देश हैं शामिल

साल 2017 में भारत और अमेरिका के अलावा मालाबार युद्धाभ्यास में जापान को भी शामिल किया गया. बीते दिनों भारत के रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की थी कि इस युद्धाभ्यास में ऑस्ट्रेलिया को भी शामिल किया गया है. अमेरिका और जापान ने भारत के इस कदम का स्वागत किया था. वहीं ऑस्ट्रेलियाई रक्षा मंत्री ने कहा था कि इससे साझी नौसैनिक शक्ति में इजाफा होगा. समुद्री रक्षा क्षेत्र में भागीदारी बढ़ेगी.

इन मसलों पर है चीन के साथ विवाद

बता दें कि बीते मई महीने से भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख की गलवान वैली और पैंगोंग त्सो झील के पास तनाव है. ताइवान और दक्षिण चीन सागर में चीन की दखलअंदाजी की वजह से चीन और जापान के बीच विवाद है. ऑस्ट्रेलिया के साथ चीन की तकरार उस वक्त बढ़ गई जब ऑस्ट्रेलिया ने कोरोना की उत्पत्ति मामले की जांच की मांग की. अमेरिका और चीन के बीच आर्थिक नीतियों की वजह से काफी विवाद है.

अमेरिका कोरोना महामारी के लिए सीधे तौर पर चीन को जिम्मेदार मानता है, इस वजह से भी दोनों देशों के बीच विवाद है. इसी आलोक में चीन की दक्षिण चीन सागर में दादागीरी को रोकने और हिंद प्रशांत महासागर की तरफ से घेरने के लिए भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका क्वाड समूह के रूप में साथ आये हैं.

Posted By- Suraj Thakur

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें