1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 second phase special look of election commission on hotseat nandigram sp rank officer appointed for security

Bengal Election 2021: हाॅटसीट नंदीग्राम पर चुनाव आयोग की विशेष नजर, सुरक्षा के लिए एसपी रैंक के अधिकारी नियुक्त

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हाॅटसीट नंदीग्राम पर चुनाव आयोग की विशेष नजर, सुरक्षा के लिए एसपी रैंक के अधिकारी नियुक्त
हाॅटसीट नंदीग्राम पर चुनाव आयोग की विशेष नजर, सुरक्षा के लिए एसपी रैंक के अधिकारी नियुक्त
Prabhat Khabar

Bengal Election 2021: दूसरे फेज में हाॅटसीट नंदीग्राम में महासंग्राम होने वाला है. इस सीट पर महारानी (ममता बनर्जी) और सेनापति (शुभेंदु अधिकारी) के बीच जबरदस्त मुकाबला होने वाला है. इस सीट पर चुनाव आयोग की भी नजर है. नंदीग्राम में हिंसा हो सकती है और नंदीग्राम सीट को बेहद संवेदनशील सीट बताया गया है. केवल नंदीग्राम के लिए एसपी रैंक के अधिकारी को नियुक्त किया गया है.

पहले फेज में किसी भी सीट के लिए एसपी रैंक के अफसर को तैनात नहीं किया गया था. नंदीग्राम में एसपी रैंक के आईपीएस अधिकारी नगेंद्रनाथ त्रिपाठी को सुरक्षा का दायित्व सौंपा गया है. वहीं पूर्व मेदिनीपुर के बाकी क्षेत्रों की सुरक्षा का दायित्व प्रवीण त्रिपाठी को सौंपा गया है. बता दें कि डायमंड हार्बर में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले में हमले के मद्देनजर आईपीएस अधिकारी प्रवीण त्रिपाठी को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके पद से हटाया था और उन्हें डेपुटेशन पर दिल्ली बुलाया था.

मगर, इस घटना को लेकर राज्य और केंद्र सरकार एक बार फिर भिड़ गये थे. राज्य सरकार ने केंद्र की डेपुटेशन का विरोध किया था और प्रवीण त्रिपाठी को नहीं भेजा था. अब चुनाव में चुनाव आयोग ने राज्य के आईपीएस अधिकारियों पर ही भरोसा जताया है. पूर्व मेदिनीपुर के लिए प्रवीण त्रिपाठी को नियुक्त किया गया है. ये आईपीएस अधिकारी वेस्टर्न जोन के एडीजी डाॅ. राजेश कुमार को मदद करेंगे.

बता दें कि नंदीग्राम में हिंसा की संभावना को देखते हुए चुनाव आयोग ने सुरक्षा की चाक - चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की है. सिर्फ नंदीग्राम के लिए ही अर्द्ध सैनिक बलों की 22 कंपनी को तैनात किया गया है. वहीं दूसरी तरफ हल्दिया के एसडीपीओ को भी हटाया गया है. चुनाव आयोग सूत्रों के अनुसार हल्दिया के एसडीपीओ वरुण वैद्य के खिलाफ चुनाव में पक्षपात का आरोप लग रहा था. इसके अलावा नंदीग्राम में एक के बाद हिंसा की घटना घट रही है.

मंगलवार को नंदीग्राम के भूतनी मोड़ पर संयुक्त मोर्चा की लेफ्ट कैंडिडेट मिनाक्षी मुखर्जी पर हमला किया गया था. वहीं मोयना में बीजेपी कैंडिडेट अशोक डिंडा पर हमला किया गया. इसके बाद अशोक डिंडा को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गयी. नंदीग्राम में बार-बार हो रहे हमले से परेशान होकर चुनाव आयोग ने ये कदम उठाया और उसे हटा दिया. कल नंदीग्राम के प्रत्येक बूथ में 8 सेंट्रल फोर्स के जवानों को तैनात किया जायेगा.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें