1. home Home
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. kashi vishwanath temple to be closed on 29 30 november and 1 december 2021 abk

Kashi Vishwanath Temple Close: तीन दिन बंद रहेगा काशी विश्वनाथ का दरबार, कॉरिडोर के निर्माण को देखते हुए फैसला

पीएम नरेंद्र मोदी दिसंबर के दूसरे सप्ताह में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करने वाले हैं. इसको देखते हुए कॉरिडोर के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
तीन दिन बंद रहेगा काशी विश्वनाथ का दरबार
तीन दिन बंद रहेगा काशी विश्वनाथ का दरबार
प्रभात खबर

Kashi Vishwanath Temple Close: अगर आप भी काशी विश्वनाथ के दरबार में हाजिरी लगाने के इच्छुक हैं तो ध्यान रखें आने वाले दिनों में मंदिर बंद रहेगा. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के कार्य को लेकर मंदिर बंद रखने का फैसला लिया गया है. इसके तहत मंदिर दो दिन आंशिक और एक दिन पूर्ण रूप से बंद रखा जाएगा. पीएम नरेंद्र मोदी दिसंबर के दूसरे सप्ताह में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करने वाले हैं. इसको देखते हुए कॉरिडोर के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का निर्माण अंतिम फेज में है. इसको देखते हुए काम में तेजी लाई गई है. ऐसे में मंदिर 29 और 30 नवंबर की सुबह 6 से शाम 6 बजे तक आंशिक रूप से बंद रहेगा. 1 दिसंबर को मंदिर पूर्ण रूप से बंद रखा जाएगा. 2 दिसंबर से बाबा दरबार पहले की तरह खुलेगा. पीएम मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसके लिए दिसंबर के दूसरे सप्ताह में किसी भी दिन को चुना जा सकता है. इसको देखते हुए काम तेज गति से चल रहा है.

800 करोड़ की लागत के प्रोजेक्ट के लोकार्पण के बाद बाबा विश्वनाथ का दरबार अलग रूप में नजर आएगा. स्वीकृत 24 भवनों का काम पूरा हो चुका है और फिनिशिंग जारी है. 52,000 वर्ग मीटर में बन रहे कॉरिडोर के भवनों के साथ मंदिर परिसर की चारों दिशाओं में निर्माणाधीन प्रवेश द्वारों के भी नामाकरण किए जाएंगे.

लोकार्पण के बाद श्रद्धालु कॉरिडोर के बाहरी हिस्से पर बने टैरेस से गंगा के साथ मणिकर्णिका और ललिता घाट को देखेंगे. मंदिर चौक, मुमुक्षु भवन, सिटी म्यूजियम, वाराणसी गैलरी, यात्री सुविधा केंद्र, आध्यात्मिक पुस्तक केंद्र, पर्यटक सुविधा केंद्र, वैदिक भवन, जलपान केंद्र, अन्न क्षेत्र और दुकानें भी बनकर तैयार हैं.

काशी विश्वनाथ का दरबार सीधे गंगा तट से जुड़ चुका है. प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद विश्वनाथ धाम आने वाले श्रद्धालु गंगा स्नान के बाद सीधे मंदिर क्षेत्र में प्रवेश करेंगे. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का मुख्य प्रवेश द्वार गोदौलिया गेट से होकर जाएगा. काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य परिसर का पूर्वी द्वार तैयार हो गया है.

(रिपोर्ट:- विपिन सिंह, वाराणसी)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें