1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. up panchayat election results 2021 kuldeeps fort collapsed in unnao shishupal became head ksl

UP Panchayat Election Results 2021: उन्नाव में कुलदीप का किला ढहा, शिशुपाल बने प्रधान

By संवाद न्यूज एजेंसी
Updated Date
पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर
पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर
सोशल मीडिया

उन्नाव : जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत में आजादी के बाद से अब तक सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर और उनके परिवार के सदस्यों का ही कब्जा रहा. लेकिन, इस बार पहला मौका है, जब गांव की प्रधानी भी सेंगर परिवार के हाथ से निकल गयी. सेंगर के प्रतिद्वंद्वी व दुष्कर्म पीडि़ता का केस लड़नेवाले दिवंगत अधिवक्ता के रिश्ते में चाचा ने प्रधानी का चुनाव जीत लिया है. मालूम हो कि सेंगर के छोटे भाई की पत्नी गांव की निवर्तमान प्रधान हैं.

करीब दो साल से देश और दुनिया में सुर्खियों में रहे गांव में इस बार ग्राम प्रधान के चुनाव भी में बड़ा उलटफेर हुआ है. किशोरी से दुष्कर्म के मामले में तिहाड़ जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर के गांव की ग्राम प्रधानी पर देश की आजादी के बाद से कब्जा रहा है.

आरक्षण के कारण जब सेंगर परिवार का सदस्य चुनाव नहीं लड़ पाया, तो किसी खास को प्रधान बनाया. अबतक सिर्फ दो ही ऐसे मौके ऐसे आये हैं, जब गांव की प्रधानी सेंगर परिवार के हाथ में नहीं रही. उनके नाना बाबू वीरेंद्र सिंह 36 साल प्रधान रहे. 1987-88 में कुलदीप सेंगर प्रधान बने थे.

साल 2000 से 2010 तक कुलदीप मां स्व चुन्नी देवी प्रधान रहीं थीं. पिछले चुनाव में कुलदीप के छोटे भाई अतुल सिंह की पत्नी अर्चना सिंह प्रधान बनी थीं. लेकिन, इस बार सेंगर परिवार ने ग्राम पंचायत के चुनाव में खुलकर रुचि नहीं दिखायी. सेंगर परिवार के पुराने प्रतिद्वंदी Shishupal Singhग्राम प्रधान निर्वाचित हुए हैं.

शिशुपाल सिंह ने 2218 मत हासिल कर अपने प्रतिद्वंदी राम मिलन को 894 वोट से हराया है. निर्वाचित प्रधान शिशुपाल, दुष्कर्म पीडि़ता के लिए न्याय की लड़ाई लड़ कर कुलदीप सेंगर को सलाखों के पीछे पहुंचाने वाले दिवंगत अधिवक्ता महेंद्र सिंह के पारिवारिक और रिश्ते में चाचा हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें