1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. fact check government is giving 5 lakh health insurance under ayushman bharat scheme rkt

Fact Check: सरकार आयुष्मान भारत योजना के तहत सभी को दे रही है 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा? जानें सच्चाई

सोशल मीडिया में एक मैसेज वायरल हो गया है, जिसमें कहा जा रहा है कि अब देश का कोई भी परिवार 5 लाख रुपये का मुफ्त बीमा योजनाका लाभ ले सकेगा. केंद्र सरकार ने आयुष्मान बावा मेडल को ‘आभा हेल्थ कार्ड’ में तब्दील कर दिया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
आयुष्मान भारत योजना
आयुष्मान भारत योजना
फाइल फोटो

Ayushman Bharat Scheme: साल 2019 में मोदी सरकार ने आम लोगों के मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की थी. इस योजना के तहत सरकार 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य कवर मिलता है. इस योजना के तहत मिलने वाले स्वास्थ्य कार्ड से कोई भी व्यक्ति योजना का लाभ ले सकता है. वहीं सोशल मीडिया पर आए दिन हेल्थ बीमा को लेकर कई तरह के मैसेज वायरल होते रहते हैं. इन दिनों सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार की एक ऐसी ही हेल्थ बीमा योजना का एक मैसेज वायरल हो रहा है. जिसमें कहा जा रहा है कि, हर नागरिक सरकार की इस योजना का फायदा उठा सकता है.

सोशल मीडिया में एक मैसेज वायरल हो गया है, जिसमें कहा जा रहा है कि अब देश का कोई भी परिवार 5 लाख रुपये का मुफ्त बीमा योजना का लाभ ले सकेगा. केंद्र सरकार ने आयुष्मान बावा मेडल को ‘आभा हेल्थ कार्ड’ में तब्दील कर दिया है. एक वेबसाइट लांच किया गया है, जहां कोई भी भारतीय नागरिक 5 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा के लिए अपना पंजीकरण करवा सकता है. एक लिंक पर भी साझा किया गया है. कहा जा रहा है कि इस लिंक पर क्लिक करके अपना आधार नंबर फीड करेंगे, तो आधार से लिंक आपके फोन पर एक ओटीपी आयेगा. इस ओटीपी को डालने के बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालने के लिए कहा जायेगा.

फोन नंबर डालने के बाद आप अपना आयुष्मान कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे. मैसेज में आग्रह किया जा रहा है कि सभी लोग अपना आभा हेल्थ कार्ड बनवा लें. सोशल मीडिया में वायरल इस मैसेज को सरकार की योजनाओं की जानकारी मीडिया को देने वाली संस्था प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने इस दावे का फैक्ट चेक किया है. यानी सोशल मीडिया में जो खबर वायरल है, उसका सत्यापन किया है. मंत्रालय से संपर्क करने के बाद पीआईबी फैक्ट चेक (PIB Fact Check) ने पूरी जानकारी जुटायी और उसके बाद इस वायरल मैसेज को फेक करार दिया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें