1. home Home
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. mahant narendra giri shodashi bhandara valuables like gold rings and silver utensils will be given to the mahants acy

महंत नरेंद्र गिरि के षोडशी भंडारे में महंतों को दिए जाएंगे सोने की अंगूठी और चांदी के बर्तन जैसे कीमती सामान

महंत नरेंद्र गिरि का षोडशी भंडारा मंगलवार को है. इस मौके पर महंतों को सोने की अंगूठी और चांदी के बर्तन जैसे कीमती सामान दिए जाएंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
महंत नरेंद्र गिरि
महंत नरेंद्र गिरि
फाइल फोटो
  • महंत नरेंद्र गिरि के षोडशी भंडारे के लिए लग गया पंडाल

  • गेरुए रोशनी में जगमगा रहा बाघंबरी गद्दी मठ

  • 100 कारीगर लगे व्यंजन तैयार करने में

  • षोडशी भंडारे में खर्च होगा 50 से 60 लाख रुपये

प्रयागराज: महंत नरेंद्र गिरि के षोडशी भंडारे को लेकर बाघंबरी मठ में तैयारिया जोरों पर चल रहीं हैं. सप्ताह भर से जहां बाघंबरी मठ में सन्नाटा पसरा हुआ था, वहीं अब चहलकदमी बढ़ गई है. देश के कोने कोने से साधु-संतों का आना शुरू हो गया है. निरंजनी अखाड़े के वरिष्ठ सचिव और मनसा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज हरिद्वार से एक दिन पहले ही बाघंबरी गद्दी मठ पहुंच चुके है. बाघंबरी मठ पहुंचने के बाद महंत रवींद्र पुरी महाराज ने षोडशी भंडारे की कमान अपने हाथों में ले ली है. मठ में संतों के स्वागत के लिए रेड कार्पेट बिछ चुकी है.

व्यंजन बनाने में जुटे कारीगर
व्यंजन बनाने में जुटे कारीगर
प्रभात खबर

भगवे रंग में रंगा बाघंबरी मठ गेरुआ रोशनी में नहाए हुए आज गुलजार नजर आ रहा है. मठ की इमारतों पर लगी रंगबिरंगी लाइटें दूर से ही राहगीरों का ध्यान अपनी ओर खींच रही हैं. बाघंबरी गद्दी के पिछले हिस्से में तरह-तरह के व्यंजन पकवान बनाए जा रहे, जिसे बनाने के लिए देश के अलग-अलग राज्यों से करीब 100 कारीगर यहां पहुंचे हैं.

बाघंबरी मठ
बाघंबरी मठ
प्रभात खबर

महंत रवींद्र पुरी ने बताया कि महाराज नरेंद्र गिरि के षोडशी भंडारे में 10 हजार से अधिक संंतों और शिष्यों को आमंत्रित किया गया है. भंडारे में लगभग 50 से 60 लाख का खर्च होने का अनुमान है. अभी कितना खर्च होगा, यह पूरी तरह से नहीं बताया जा सकता है, लेकिन अनुमान है कि इतना खर्च हो जाएगा. उन्होंने बताया कि षोडशी ने शामिल होने वाले 16 महंतों को 16 कीमती चीजें भेंट की जाएंगी. इसमे सोने की अंगूठी, चांदी के बर्तन समेत 16 समान होंगे. भंडारे के आखिर में सभी संतों को वस्त्र देकर विदा किया जाएगा.

श्रद्धांजलि कार्यक्रम 11 बजे से होगा शुरू

कार्यक्रम की शुरुआत मंगलवार सुबह 11 बजे श्रद्धांजलि सभा से होगी, जिनसे आचार्य महामंडलेश्वर कैलाश नंद, निरंजनी अखाड़ा सचिव रवींद्र पुरी महाराज, अखाड़ा परिषद के महामंत्री हरी गिरि महाराज समेत 13 अखाड़ों के पदाधिकारी, पंच परमेश्वर, महामंडलेश्वर, मठों के महंत, पीठाधीश्वरों समेत तमाम राजनैतिक और सामाजिक क्षेत्रों के भी लोग नरेंद्र गिरि महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे.

चादर विधि कार्यक्रम 12 बजे से होगा शुरू

श्रद्धांजलि सभा के बाद 12 बजे से बाघंबरी मठ के उत्तराधिकारी के तौर पर बलवीर गिरि महाराज की चादर विधि प्रारंभ होगी. निरंजनी अखाड़े के वरिष्ठ सचिव और मनसा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज ने बताया कि महामंडलेश्वर का पट्टा अभिषेक होता है. महंत की चादर विधि होती है. चादर विधि के द्वारा महंत को सभी अखाड़े अपनी स्वीकृति देते हैं. साथ ही उन्हें उनकी जिम्मेदारी के बारे में भी अवगत कराया जाता है. यह पद बेहद जिम्मेदारी भरा है.

षोडशी में 16 महंतों को 16 चीजें की जाएंगी भेंट

महंत नरेंद्र गिरि का षोडशी भंडारा 1 बजे से शुरू होगा. भंडारे में देश के कोने-कोने से सभी 13 अखाड़ों के महंतों को आमंत्रित किया गया है. षोडशी भंडारे के लिए 16 महंतों को 16 चीजें भेंट की जाएंगी. महंतों ने भोग लगाने के बाद भंडारा शुरू हो जाएगा. भंडारे में करीब 10 हजार लोगों के पहुंचने की उम्मीद है. भंडारे के बाद सभी महामंडलेश्वर, मठों के महंत, पीठाधीश्वरों और संतों की विदाई की जाएगी.

इनपुट- एसके इलाहाबादी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें