1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. coronavirus lockdown in up youth shot dead in prayagraj after blaming nizamuddin tablighi jamaat for coronavirus spread

Lockdown in UP : कोरोना फैलने के लिए तबलीगी जमात को बताया दोषी, देशी कट्टे से सिर पर मार दी गोली, मौत

By Samir Kumar
Updated Date
FILE PIC
FILE PIC

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद के करेली थाना अंतर्गत बक्शी मोढ़ा गांव में रविवार की सुबह एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना को संज्ञान में लेते हुए मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है.

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि सुबह करीब 10 बजे अखबार पढ़ने के दौरान कुछ कहासुनी हुई जिस पर 28 वर्षीय लोटन निषाद नाम के व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. उन्होंने बताया कि हत्या के आरोपी दो व्यक्तियों-मोहम्मद सोना और एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है और बाकी लोगों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.

करेली थाना के सूत्रों ने बताया कि सुबह गांव की एक किराने की दुकान पर अखबार में तबलीगी जमात को लेकर छपी खबर पर चर्चा हो रही थी और लोटन निषाद ने देश में कोरोना वायरस फैलने के लिए जमात के लोगों को जिम्मेदार बताया. इस पर समुदाय विशेष के लोगों ने आपत्ति की और बात हाथापाई तक पहुंच गयी.

सूत्रों के अनुसार कहासुनी के बाद एक व्यक्ति ने देशी कट्टे से लोटन निषाद के सिर पर गोली मार दी और अस्पताल ले जाते समय उसने दम तोड़ दिया. शव का पोस्टमार्टम कराकर रविवार शाम गांव के पास यमुना नदी के तट पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस घटना के संबंध में 10 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है और बाकी लोगों को गिरफ्तार करने के लिए एसओजी एवं अन्य टीमें दबिश दे रही हैं. इलाके में बड़ी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की गयी है.

यूपी में तबलीगी जमात के 138 लोग पाये गये कोरोना वायरस से संक्रमित

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में तबलीगी जमात के 1499 लोगों को चिह्नित किया गया है जो किसी ना किसी रूप में जमात में शामिल हुए थे. तबलीगी जमात के 138 लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये. अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने रविवार को यहां संवददाताओं से कहा, ''तबलीगी जमात के लोगों के खिलाफ कार्रवाई में काफी अच्छी प्रगति हुई है. उसी कड़ी में अब तक जो सूचना जो आयी है, उसके तहत 1499 लोगों को चिह्नित किया गया है, जो किसी रूप में जमात में शामिल हुए थे.''

उन्होंने बताया कि इनमें से 301 मेरठ के, 281 बरेली, 67 कानपुर, 232 वाराणसी, 108 लखनऊ, 147 आगरा, 56 प्रयागराज, 213 गोरखपुर, 24 लखनऊ कमिश्नरी और 70 गौतमबुद्ध नगर कमिश्नरी के हैं. अवस्थी ने कहा कि तबलीगी जमात के 138 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जहां भी रह रहे हैं चाहे धर्म स्थल या घर में, वहां व्यापक रूप से प्रभावी कार्रवाई की जा रही है.

ड्रोन के जरिये हो रही है निगरानी

उनके अनुसार पुलिस द्वारा बहुत से जिलों में ड्रोन के जरिये निगरानी हो रही है. अपर मुख्य सचिव ने कहा कि अब तक जो 138 पॉजिटिव मामले पाये गये, उनकी मेडिकल व्यवस्था मजबूत रखी जा रही है और उनकी निगरानी की जा रही है. उन्होंने कहा कि कुछ जगहों से असहयोग की शिकायतें आयी हैं , हम उनका सहयोग लेने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने अपील की कि जहां भी इस तरह के लोग कहीं रह गये हैं, वो अपने खुद के स्वास्थ्य, साथियों और सबके स्वास्थ्य के लिए सामने आएं, ताकि तुरंत जांच करके और पृथक वास में भेजकर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके.

ड्रोन के जरिये हो रही है निगरानी

उनके अनुसार पुलिस द्वारा बहुत से जिलों में ड्रोन के जरिये निगरानी हो रही है. अपर मुख्य सचिव ने कहा कि अब तक जो 138 पॉजिटिव मामले पाये गये, उनकी मेडिकल व्यवस्था मजबूत रखी जा रही है और उनकी निगरानी की जा रही है. उन्होंने कहा कि कुछ जगहों से असहयोग की शिकायतें आयी हैं , हम उनका सहयोग लेने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने अपील की कि जहां भी इस तरह के लोग कहीं रह गये हैं, वो अपने खुद के स्वास्थ्य, साथियों और सबके स्वास्थ्य के लिए सामने आएं, ताकि तुरंत जांच करके और पृथक वास में भेजकर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके.

सेनेटाइजर की कालाबाजारी करने वालों पर होगी कार्रवाई

अवस्थी ने बताया कि अब तक राज्य में पीपीई की 31 इकाइयां और सेनेटाइजर की 99 इकाइयां क्रियाशील हो गयी हैं. उन्होंने कहा, ‘‘कुछ जगहों पर शिकायत मिली है कि दुकानों पर सेनेटाइजर नहीं हैं. जो कालाबाजारी कर रहे होंगे, उन पर कार्रवाई की जायेगी.'' उन्होंने कहा कि धार्मिक, सामाजिक एवं सरकारी संगठनों के जरिेये 1,08,123 फूड पैकेट बांटे गये.

कोविड केयर फंड का लक्ष्य 1000 करोड़ रुपये

उन्होंने कहा कि कोविड केयर फंड का लक्ष्य 1000 करोड़ रुपये है, शिक्षा विभाग ने 76 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान किया है और सभी विधायक एक एक करोड़ रुपये की मदद देंगे. अपर मुख्य सचिव ने बताया कि 4,00,765 लोगों को गांवों में घरों में ही पृथक वास में रखा गया. नगरीय क्षेत्र में 34,933 लोग घरों के अंदर ही पृथक वास में रखे गये. राजस्व विभाग के शेल्टर होम में रुके लोगों को भी जोड़ लें तो लगभग साढ़े पांच लाख लोग होम क्वारेंटाइन में हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें