बच्चों के लिए खेलकूद प्रतियोगिता, बोले डीसी- दिव्‍यांग बच्‍चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रविकांत साहू, सिमडेगा

झारखंड शिक्षा परियोजना की ओर से सीडब्लूएसएन बच्चों के लिए जिला स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन राजकीय कन्या मध्य विद्यालय परिसर में किया गया. उपायुक्त मृत्युंजय कुमार बरणवाल सहित द्विव्यांग बच्चों एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर जिला स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता का शुभारंभ किया.

बालक-बालिकाओं के बीच बैलून रेस, बिस्किट रेस, 50 मीटर दौड़, घड़ा फोड़, गोली चम्मच रेस, बॉल फेंकना, गायन, डांस, म्यूजिकल चेयर, पासिंग दी बॉल, पेंटिंग जैसे 11 प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. उपायुक्त ने सभी दस प्रखंडों से आये सीडब्लूएसएन (द्विव्यांग) बच्चों जिला स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सभी को शुभकामनाएं दी.

उन्होंने कहा कि द्विव्यांग बच्चों में प्रतिभा की अपार संभावनाएं हैं. उन्हें तरासने तथा सही मुकाम पर पहुंचाने के लिए हम सभी को मिलकर इस तरह का विशेष आयोजन इन बच्चों के लिए समय-समय पर करने चाहिए. मौके पर जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, विद्यालय के शिक्षक, शिक्षिकाओं के अलावे सभी प्रखंडों से आये सीडब्लूएसएन बच्चें उपस्थित थे.

प्रतियोगिता के विजेता

गोली चम्मच रेस में बालक वर्ग में असबील सोरेंग बांसजोर, रोहित राम बानो, मनीष कुमार मेहर ठेठईटांगर ने जीत हासिल की. वहीं बालिका वर्ग में रानी कुमारी बोलबा, खुशी कुमारी ठेठईटांगर, निकिता सोरेंग केरसई ने बाजी मारी. बॉल फेंकना प्रतियोगिता में बालक वर्ग में शत्रुधन नायक सिमडेगा, तेजनाथ सिंह बानो, राज कुमार बड़ाईक सिमडेगा ने जीत हासिल की. वहीं बालिका वर्ग में अनिता तिर्की पाकरटांड़, सुमंती कुमार बानो, अंकित केरकेट्टा ठेठईटांगर विजेता बनी.

म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता में बालक वर्ग में अमन सोरेंग बोलबा, अभिनाश सुरीन बांसजोर, विधयेश बाड़ा सिमडेगा ने जीत हासिल की. वहीं, बालिका वर्ग में मनीषा कच्छुआ जलडेगा, सोना कुमारी बानो, खुशी कुमारी ठेठईटांगर विजयी रही. गायन प्रतियोगिता में बालक वर्ग में सुमन जड़िया जलडेगा, अवधेश भुईंया कुरडेग, गणेश नायक बोलबा ने जीत हासिल की. वहीं बालिका वर्ग से नितू कुमारी कुरडेग, पलक कुमारी कोलेबिरा, रिया मिंज ठेठईटांगर विजेता बनीं.

सभी प्रतियोगिता में सभी प्रखंडों के द्विव्यांग बच्चों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया. वहीं विजेता बच्चों को अतिथियों ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया. अन्य सभी बच्चों को सांत्वाना पुरस्कार भी दिया गया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें