1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. sahibgunj
  5. jharkhand crime news cm hemant barhett representative cousin shot dead in sahibganj shocking disclosure smj

Jharkhand Crime News : साहिबगंज में CM हेमंत के बरहेट प्रतिनिधि के चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सीएम हेमंत के बरहेट प्रतिनिधि पंकज मिश्रा अपने चचेरे भाई का शव देखने पहुंचे हॉस्पिटल.
सीएम हेमंत के बरहेट प्रतिनिधि पंकज मिश्रा अपने चचेरे भाई का शव देखने पहुंचे हॉस्पिटल.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News, Sahibganj News, साहिबगंज न्यूज : झारखंड के साहिबगंज जिला अंतर्गत बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक सह राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गयी है. हत्या की खबर से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है. मृतक पिछले 10 दिनों से लापता था. घटना की जानकारी मिलते ही संताल परगना प्रमंडल के DIG सुदर्शन प्रसाद मंडल साहिबगंज पहुंचे.

Jharkhand news : लापता धनंजय मिश्रा का शव मिलने से परिजनों का रो- रोकर है बुरा हाल.
Jharkhand news : लापता धनंजय मिश्रा का शव मिलने से परिजनों का रो- रोकर है बुरा हाल.
प्रभात खबर.

बरहेट विधानसभा से विधायक सह झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के चचेरे भाई धनंजय कुमार मिश्रा उर्फ छोटू मिश्रा (30 वर्ष) 10 दिन से लापता था. पुलिस ने उसका शव जिरवाबाड़ी थाना क्षेत्र के महादेव गंज स्थित एक क्रशर प्लांट के निकट से एक बड़े गड्ढे से बरामद किया है. लापता होने के बाद से ही पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस हत्याकांड का खुलासा किया है. जेसीबी चालक और मृतक की पत्नी को हिरासत में हुई पूछताछ में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आये हैं.

क्या है मामला

मृतक धनंजय मिश्रा गत 3 मार्च, 2021 से लापता था. 4 मार्च को उसकी पत्नी दीपिका द्वारा अपने रिश्तेदारों की मदद से मिर्जाचौकी थाना में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया. इसके बाद से ही विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस विभाग को जल्द से जल्द उद्भेदन करने को कहा. मामले की गंभीरता को देखते हुए साहिबगंज एसपी ने एक टीम गठित कर मामले के उद्भेदन में पुलिस अधिकारियों को लगा दिया. जांच-पड़ताल में पुलिस ने एक जेसीबी चालक को राजमहल से गिरफ्तार कर पूछताछ की, तो जेसीबी चालक ने मामले का खुलासा किया. पुलिस ने उसकी निशानदेही पर मिर्जाचौकी थाना क्षेत्र के मुर्दारी रोड से लापता धनंजय मिश्र का शव शनिवार की रात लगभग 12.30 बजे अंबाडीह रेलवे लाइन के पास पुलिया के समीप से 15 फीट गहरा गड्ढा खोदकर निकाला गया. इस दौरान डीसी रामनिवास यादव और एसपी अनुरंजन किस्फोट्टा भी मौजूद थे.

बताया गया कि मृतक धनंजय मिश्र को उसके ही एक मित्र आदित्य यादव ने गोली मारकर हत्या कर दिया. इसके बाद शव से महादेव गंज के निकट गड्ढे में डाल दिया. जेसीबी चालक की निशानदेही पर उक्त गड्ढे के पास पुलिस पहुंची. बताया गया कि पहले जेसीबी के सहारे गड्ढे की गयी. उसी गड्ढे में धनंजय का शव को डाला गया. फिर उसके ऊपर क्रशर प्लांट के डस्ट को डालकर ढक दिया, ताकि किसी को कुछ पता नहीं चल सके.

इधर, पुलिस मामले की तहकीकात के लिए मृतक की पत्नी दीपिका को भी थाना लायी. पुलिस ने दूसरे दिन यानी रविवार को धनंजय के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया. यहां विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, कांग्रेस के युवा जिला अध्यक्ष अखलाक नदीम सहित अन्य नेताओं ने सदर हॉस्पिटल पहुंचे.

मृतक एक माह पूर्व छूटा था जेल से, तीन मामले का था आरोपी

इस संबंध में दुमका प्रमंडल के DIG सुदर्शन प्रसाद मंडल ने बताया कि धनंजय मिश्र हत्याकांड के मामले के उद्भेदन के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है. मृतक धनंजय मिश्रा उर्फ छोटू मिश्रा के खिलाफ भी बोरियत थाना में कांड संख्या 103 / 2020 आर्म्स एक्ट डकैती की योजना बनाते हुए गिरफ्तार हुआ था. धनंजय को हाल ही में जेल से जमानत मिली थी. वहीं, कांड संख्या 317/ 2018 रेलवे जीआरपी के कांड संख्या 52 /17 धारा 414 चोरी के सामान बरामद के मामले में प्राथमिकी दर्ज थी जो न्यायालय में लंबित है.

DIG ने मृतक की पत्नी से की पूछताछ, खुले कई अहम राज

जेसीबी चालक के बयान के आधार पर पुलिस ने मृतक की पत्नी को भी हिरासत में लिया और उससे पूछताछ की. वहीं, DIG ने भी मृतक की पत्नी को एसपी ऑफिस में बुलाकर लंबी पूछताछ की. पूछताछ के बाद DIG ने पत्रकारों को बताया कि मृतक की पत्नी ने स्वीकार कि है कि हत्या का आरोपी आदित्य यादव के साथ उसका प्रेम संबंध है. इसके अलावा जमीनी विवाद सहित अन्य मामले पर भी जांच करने की बात कही है.

बेटे की हत्या की खबर सुनकर मां और बहन का रो- रोकर बुरा हाल

धनंजय की हत्या के बाद पूरे मोहल्ले में सन्नाटा छा गया. बताया जाता है कि जैसे ही धनंजय मिश्र उर्फ छोटू मिश्रा की लाश मिलने की खबर मोहल्ले में पहुंची, पूरा मोहल्ला अचानक शांत हो गया और फिर रोने और चिल्लाने की आवाज गूंजने लगी. मां उमा देवी का रो- रोकर बुरा हाल हो गया. वहीं, मृतक धनंजय की बहन ने मां को समझाने का प्रयास कर रही थी. वह भी रोते हुए गिर पड़े. चचेरे भाई पंकज मिश्रा का भी रो- रोकर बुरा हाल रहा.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें