सरकारी खर्च पर चुनावी फायदा पहुंचाने आ रहे हैं मोदी : कांग्रेस

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
काम यूपीए का, ठप्पा एनडीए का, पिछली सरकार की योजनाओं का उदघाटन कर रहे हैं प्रधानमंत्रीभाजपा के चाल, चरित्र और चिंतन में घुन लग गया हैवरीय संवाददातारांची : कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उदघाटन के बहाने भाजपा की आम सभा कर रहे हैं. सरकारी खर्च पर भाजपा को चुनावी फायदा पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री झारखंड आ रहे हैं. प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा है कि जिन योजनाओं का प्रधानमंत्री उदघाटन कर रहे हैं, वह एक-दो दिन में नहीं बनी है. काम यूपीए का है और ठप्पा एनडीए का लग रहा है. मोदी सपनों के सौदागार के साथ-साथ शब्दों की बाजीगरी से लोगों में भ्रम फैलाने का काम करते हैं. पिछले वर्ष 29 दिसंबर को झारखंड आये थे. चुनावी भाषण में कहा था कि काला धन वापस लायेंगे, युवाओं को रोजगार देंगे, महंगाई-भ्रष्टाचार कम करेंगे. लेकिन इस दिशा में केंद्र सरकार ने कोई पहल नहीं की. देशी-विदेशी कंपनियों के हित में नीतियां बन रही है. प्रदेश अध्यक्ष श्री भगत कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि मोदी ने नारा दिया है : कम एंड मेक इंडिया, दरअसल में सरकार कम एंड लूट इंडिया के रास्ते पर चल रही है. भाजपा को चुनावी लाभ पहुंचाने के लिए मोदी की सभा हो रही है. लोकसभा चुनाव के दौरान कहा गया था कि राज्य को स्पेशल पैकेज मिलेगा, लेकिन केंद्र सरकार इस पर अब चुप है. केंद्र तानाशाही रवैया अपना कर योजना आयोग जैसी महत्वपूर्ण संस्था को बंद करने जा रही है. संसद में एफडीआइ पर विरोध करने वाली भाजपा की सरकार अब रक्षा क्षेत्र में भी विदेशी पूंजी निवेश कर रही है. खाद्य सुरक्षा, मनरेगा, लोकपाल जैसे महत्वपूर्ण कार्यों में सरकार अनदेखी कर रही है. केंद्र सरकार को आदिवासियों की कोई चिंता नहीं है. भाजपा के संगठन में आदिवासी को जगह नहीं मिली. भाजपा के चाल, चरित्र और चिंतन में घुन लग गया है. भ्रष्टाचार पर हल्ला करने वाली भाजपा ने येदियुरप्पा को उपाध्यक्ष बना दिया है. मुख्यमंत्री को वहां जाने से नहीं रोकेंगेयह पूछे जाने पर कि हरियाणा में प्रधानमंत्री की सभा में वहां के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ नारेबाजी हुई. क्या झारखंड में मुख्यमंत्री को सभा में नहीं जाने की नसीहत देंगे. श्री भगत ने कहा कि हम सरकार में सहयोगी हैं. मुख्यमंत्री को दिशा-निर्देश हम नहीं दे सकते हैं. मुख्यमंत्री का शामिल होना प्रोटोकॉल का मामला है. यह पूछे जाने पर कि ऊर्जा मंत्री कार्यक्रम में नहीं रहेंगे. उनका पहले से दूसरी जगह कार्यक्रम तय था. मौके पर मंत्री गीता श्री उरांव, केएन त्रिपाठी, मीडिया संयोजक शमशेर आलम, रवींद्र सिंह, राजेश ठाकुर, लाल किशोर नाथ शाहदेव, संजय पांडेय और राजेश गुप्ता छोटू मौजूद थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें