भारतीय ने 4500 रुपये में बनाया गूगल ग्लास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एजेंसियां, बेंगलुरुकोच्चि के अरविंद संजीव ने एक माह में 4500 रुपये की लागत से वह गूगल ग्लास तैयार किया है जिसे गूगल को तैयार करने में करीब एक साल का वक्त लगा था और एक लाख रुपये की लागत आयी थी. बस फर्क इतना है कि यह चश्मे की तरह न होकर एक टोपी जैसा दिखता है. इसके लिए अरविंद ने ओपन-सोर्स हार्डवेयर की मदद ली है.इस प्रोडक्ट के जरिये पैसे कमाने की जगह अरविंद ने समाज की भलाई के मकसद से एक ब्लॉग लिखा है और उसमें यह भी बताया है कि किस तरह कोई भी इस स्मार्टकैप को बना सकता है. उन्होंने यह भी बताया है कि इसे बनाने के लिए ओनपसोर्स हार्डवेयर जैसे कि रासबेरी पाई कंप्यूटर, आर्डिर्यनो बोर्ड और ऐंड्रॉयड सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जा सकता है. इस स्मार्टकैप में वीडियो शेयर करने और रिकॉर्ड करने के लिए वेबकैम है जिसका 2.5 इंच का डिस्प्ले है और हैंड्स-फ्री काम करने के लिए वॉइस रिकग्निशन सिस्टम भी है.ऐसे आया स्मार्टकैप बनाने का ख्याल23 वर्षीय संजीव अपने इंजीनियरिंग कॉलेज में कंप्यूटर हार्डवेयर बनाने के बारे में कुछ भी नहीं सीख सके थे. उन्होंने तब ही फैसला कर लिया था कि वह अपने सभी प्रोजेक्ट्स को सभी के लिए उपलब्ध करवायेंगे, ताकि जो चाहे उन्हें बना सके. संजीव ने कहा, कॉलेज में आर्डिर्यनो को जानने से पहले मुझे नहीं पता था कि कोई कैलकुलेटर कैसे काम करता है या मैं उसे कैसे बना सकता हूंू.बनाया मोबाइल से कार कंट्रोल करने वाला एपकेवल स्मार्टकैप ही नहीं संजीव ने ओपन सोर्स हार्डवेयर की मदद से एक प्लैटफॉर्म भी बनाया है जिससे मोबाइल एप की मदद से आप अपनी कार को पूरा कंट्रोल कर सकते हैं. संजीव ने इसके पेटेंट का आवेदन किया है और उन्हें उम्मीद है कि वह इसे एक पीस के 9000 रुपये के हिसा से बेच सकेंगे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें