छह अगस्त को ही कांग्रेस में शामिल हुआ : डॉ अजय

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
- रांची में 22 को होगी आधिकारिक घोषणा- झारखंड में महागंठबंधन कराने की मिली जिम्मेवारी भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस, झामुमो, राजद , झाविमो व आजसू का एक होना जरूरी - विधानसभा चुनाव लड़ने का अभी विचार नहीं संवाददाता, जमशेदपुरझाविमो के पूर्व सांसद डॉ अजय कुमार ने कहा कि वह छह अगस्त को कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिल कर कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं, इसकी आधिकारिक घोषणा 22 अगस्त को रांची में प्रेस कांफ्रेंस में की जायेगी. बुधवार को जमशेदपुर पहुंचे डॉ अजय अपने आवास पर पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि केंद्र व झारखंड में सक्रिय राजनीति के इरादे से वह कांग्रेस में शामिल हुए हैं. विधानसभा चुनाव लड़ने का अभी विचार नहीं है.भाजपा को कांग्रेस ही रोक सकती है डॉ अजय ने कहा कि भाजपा की राजनीति देश हित में नहीं हैं. इंद्रधनुष के रंग की तरह कांग्रेस ही सभी धर्म-वर्ग के लोगों को साथ लेकर चलती है. राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को कांग्रेस ही रोक सकती है. कांग्रेस उन्हें जो जिम्मेवारी सौंपेगी, उसे निभायेंगे. फिलहाल झारखंड मंे कांग्रेस को मजबूत करने और महा गंठबंधन बनाने की जिम्मेवारी सौंपी गयी है, जिसके प्रयास में वे लगे हैं. कांग्रेस-झामुमो-राजद का पूर्व से गंठबंधन हैं. उनका प्रयास है कि इस गंठबंधन में आजसू और झाविमो भी शामिल हो. इसका फॉर्मूला भी तैयार किया गया है. हर दल एडजस्टमेंट करें, तो कोई दिक्कत नहीं होगी. जिस दल की ज्यादा सीट होगी, उसका सीएम होगा. बाबूलाल से खटास नहींडॉ अजय ने कहा कि इलेक्शन से पहले गंठबंधन होना बेहतर है. पोस्ट इलेक्शन गंठबंधन होने से सरकार को खतरा हो सकता है. उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी उनके आदरणीय हैं और उनसे कोई खटास नहीं है. वह कभी श्री मरांडी के खिलाफ टिप्पणी नहीं कर सकते. कांग्रेस मंे शामिल होने के लिए दो माह से उनसे और पार्टी के लोगों से बात हो रही थी. उनका झाविमो को तोड़ने का कोई इरादा नहीं है, वे बोलते तो कई लोग उनके साथ कांग्रेस मंे शामिल होते, लेकिन उन्होंने इससे मना कर दिया.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें