1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. cook of jharkhand is not getting proper honorarium and respect a call to intensify the mass movement smj

झारखंड के रसोइया-संयोजिका को नहीं मिल रहा उचित मानदेय और सम्मान, जन आंदोलन तेज करने का आह्वान

कोडरमा के तिलैया में रसोइया-संयोजिका यूनियन (सीटू) का एक दिवसीय कन्वेंशन संपन्न हुआ. राज्य के रसोइया-संयोजिका को उचित मानदेय और सम्मान नहीं मिलने पर नाराजगी जाहिर करते हुए जन आंदोलन की बात कही गयी. इस मौके पर कई प्रस्ताव भी पारित हुए.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोडरमा के तिलैया में रसोइया-संयोजिका का एक दिवसीय कन्वेंशन को संबोधित करते अतिथि.
कोडरमा के तिलैया में रसोइया-संयोजिका का एक दिवसीय कन्वेंशन को संबोधित करते अतिथि.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (कोडरमा) : झारखंड राज्य विद्यालय रसोइया- संयोजिका यूनियन (सीटू) एक दिवसीय सांगठनिक कन्वेंशन गुरुवार को साहु धर्मशाला में आयोजित हुआ. इस दौरान रसाेइयों को उचित मानदेय और सम्मान मिलने पर नाराजगी जताते हुए अधिकारों को लेकर जन आंदोलन तेज करने का आह्वान किया गया.

इस मौके पर निर्माण मजदूर यूनियन के अध्यक्ष प्रेम प्रकाश ने कहा कि रसोइयों को हर दिन मात्र 67 रुपये दिये जाते हैं, जो नाइंसाफी है. वहीं, उम्र के आधार पर काम से रसोइयों को हटाना भी सही नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर रसोइयों को उम्र के आधार पर हटाया जाता है, तो उन्हें एक लाख की राशि दी जानी चाहिए.

वहीं, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिला संयुक्त सचिव दिनेश रविदास ने कहा कि रसोइया व संयोजिका का चौतरफा शोषण हो रहा है. हजारों बच्चों का खाना बनाने वाली महिलाओं को उचित मजदूरी नहीं दी जा रही है. मुख्य वक्ता सीटू राज्य कमेटी सदस्य संजय पासवान ने कहा कि रसोइया को ना उचित मानदेय मिलता है और न ही सम्मान.

कोरोना काल व लॉकडाउन में जब लोग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं और गरीब परिवारों का जीना मुश्किल हो गया है, तो वैसे समय में स्कूलों में सैकड़ों बच्चों का खाना बनाने वाली महिलाएं जिन्हें मात्र 2000 मिलता है, वो भी नवंबर 2020 से मानदेय नहीं दिया गया है. गरीब महिलाओं को 10 माह से मानदेय नहीं देना दुर्भाग्यपूर्ण व अन्यायपूर्ण कदम है.

कन्वेंशन में कई प्रस्ताव हुए पारित

झारखंड राज्य विद्यालय रसोइया संयोजिका यूनियन (सीटू) के सांगठनिक कन्वेंशन में कई प्रस्ताव पारित हुए. इसके तहत आगामी 27 सितंबर को आहूत भारत बंद को समर्थन करने, 24 सितंबर को स्कीम वर्कर्स के हड़ताल में भाग लेने, विभिन्न मांगों को लेकर नवंबर में विधानसभा का घेराव करने का प्रस्ताव आदि शामिल है.

कन्वेंशन के अंत में 15 सदस्यीय जिला कमेटी का चुनाव किया गया, जिसमें महेन्द्र तुरी कार्यकारी अध्यक्ष, अनीता सिंह अध्यक्ष, रेखा देवी सचिव, बबीता देवी व मुनेजा खातून उपाध्यक्ष, संध्या पांडेय कोषाध्यक्ष व गुड़िया देवी सह सचिव बनाई गयी. इसके अलावा उर्मिला देवी, आरती देवी, बेबी देवी, किरण देवी, मुनि देवी, किरण देवी, केशरी देवी, शकुंतला देवी, सविता देवी कार्यकारिणी सदस्य चुनी गयी.

कन्वेंशन की अध्यक्षता अनीता देवी, संध्या पांडेय व बबीता देवी की तीन सदस्यीय अध्यक्षमंडल ने किया, जबकि संचालन सीटू नेता महेन्द्र तुरी ने किया. कन्वेंशन का उद्घाटन करते हुए आंगनबाड़ी संघ की प्रदेश अध्यक्ष मीरा देवी ने संगठित होकर संघर्ष तेज करने का आह्वान किया.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें