1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. singh garjana rally organized in patna on 29th january lovely anand and mla son invited jamshedpurs people smj

पटना में 29 को सिंह गर्जना रैली का आयोजन, लवली आनंद व विधायक पुत्र ने जमशेदपुर वासियों को दिया आमंत्रण

बिहार के पटना में आगामी 29 जनवरी को सिंह गर्जना रैली का आयोजन होगा. इसके लिए आनंद मोहन की पत्नी सह वैशाली की पूर्व सांसद लवली आनंद और शिवहर से राजद के विधायक चेतन आनंद ने जमशेदपुर वासियों को आमंत्रित किया है. कहा कि उनका परिवार संघर्ष कर रहा है. जनता माकूल जवाब देगी.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: सिंह गर्जना रैली के बारे में जानकारी देते लवली आनंद और विधायक पुत्र चेतन आनंद.
Jharkhand news: सिंह गर्जना रैली के बारे में जानकारी देते लवली आनंद और विधायक पुत्र चेतन आनंद.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: फ्रेंड्स ऑफ आनंद की तरफ से पूर्व सांसद सह डीएम कृष्णैया की हत्या मामले में जेल में बंद आनंद मोहन की रिहाई के लिए कानूनी लड़ाई लड़ी जा रही है. तो, दूसरी तरफ आगामी 29 जनवरी, 2022 को पटना के मिलर हाई स्कूल में सिंह गर्जना रैली का आयोजन किया गया है. रैली की सफलता सुनिश्चित करने के लिए बुधवार को आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद (वैशाली की पूर्व सांसद) और शिवहर से राजद विधायक आनंद मोहन सिंह के पुत्र चेतन आनंद ने जमशेदपुर वासियों को रैली में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया.

जमशेदपुर के परिसदन में पत्रकारों से बात करते हुए इन नेताओं ने कहा कि सिंह गर्जना रैली का मुख्य मकसद सीएम नीतीश कुमार को महाराणा प्रताप जयंती पर साल 2019 में किये वादे याद दिलाना है. जिसमें उन्होंने पटना के मुख्य चौराहे पर महाराणा प्रताप की अश्वारोही प्रतिमा लगाने, प्रताप स्मृति भवन के लिए दो कट्ठा जमीन आवंटित करने, उनकी जयंती पर एक दिवसीय अवकाश एवं सजा पूरी कर चुके पूर्व सांसद आनंद मोहन की सम्मानजनक रिहाई की मांग है. कहा कि आगामी 29 जनवरी तक अगर राज्य सरकार अपना वादा पूरा नहीं करती है, तो इस बार आर-पार की लड़ाई तय है.

मेरे पति को झूठे केस में फंसा कर जेल में डाल दिया : लवली आनंद

पूर्व सांसद लवली आनंद ने कहा कि मेरे पति को झूठे केस में फंसा कर जेल में डाल दिया गया. 14 वर्ष से उनके पति जिस मामले में जेल में बंद हैं. उसमें वे थे भी नहीं. इस मामले में 7 लोगों को उम्रकैद की सजा सुनायी गयी थी, लेकिन उन्हें छोड़कर सभी बरी हो गये. आनंद मोहन को एक साजिश के तहत जेल में रखा गया है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2019 के चुनाव में वादा किये थे कि उनकी सरकार बनने के बाद आनंद मोहन की रिहाई के लिए प्रयास करेंगे. लेकिन, आज वह भूल गये हैं. उन्हें बंदी बनाकर रखा गया हैं. अब तक उन्हें रिहा नहीं किया गया है. लोगों से 29 जनवरी को बिहार में होनेवाली रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचने की अपील की.

उन्होंने कहा कि 29 जनवरी को होने वाली रैली से नीतीश सरकार को बता देंगे कि हम सब एक हैं. रैली के माध्यम से अपने निर्दोष पति को जल्द से जल्द रिहा करने की मांग करेंगे. जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत होती है. उनका राजनीतिक लाइफ छिन लिया. उनका परिवार संघर्ष कर रहा हैं. मानवाधिकार का हनन हो रहा हैं. वह जमशेदपुर की बेटी हैं.

सड़क से सदन तक होगा आंदोलन : चेतन आनंद

विधायक चेतन आनंद ने कहा कि सड़क से सदन तक आंदोलन होगा. इसके लिए सिंह गर्जना रैली का आयोजन करने जा रहे हैं. जिसमें 5 से 10 लाख लोगों के पहुंचने की पूरी संभावना है. उन्होंने कहा कि राजनीति में पक्ष- विपक्ष हो सकता है, लेकिन पर्सनल लेबल पर लड़ाई ले जाने की कोशिश कर रहे हैं. जिसको देखते हुए आंदोलन की शुरुआत कर रहे हैं. जब तक आनंद मोहन की रिहाई नहीं नहीं होती, इसके लिए वे अपनी मां पूर्व सांसद लवली आनंद के साथ विभिन्न प्रदेशों के राजनेताओं और सामाजिक संगठनों के बड़े नेताओं को रैली में शामिल होने का आमंत्रण दे रहे हैं. प्रेस वार्ता में संजय ठाकुर, राजेश झा, मनोज आनंद, मनोज सिंह, शंभु सिंह आदि मौजूद थे.

रिपोर्ट : अशोक झा, जमशेदपुर.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें