1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. insects engaged in hundreds of quintals of grain kept for distribution to the villagers smj

ग्रामीणों को बांटने के लिए रखे सैकड़ों क्विंटल अनाज में लगे कीड़े, 6 माह से गोदाम में रखे थे अनाज

कोरोना काल में ग्रामीणों को फ्री में देने के उद्देश्य से गढ़वा के गोदाम में रखे सैकड़ों क्विंटल अनाज में कीड़े लग गये हैं. कीड़े लगने से अनाज बर्बाद हो गया है. इसके बावजूद खराब अनाज को बांटने के लिए डीलरों को दिया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: गढ़वा प्रखंड कार्यालय के गोदाम रखे खराब हुए अनाज के बोरे.
Jharkhand news: गढ़वा प्रखंड कार्यालय के गोदाम रखे खराब हुए अनाज के बोरे.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: गढ़वा जिले में कोराना काल में ग्रामीणों के बीच नि:शुल्क वितरण किया जानेवाले अनाज में कीड़े लग गये हैं. गढ़वा प्रखंड कार्यालय के गोदाम में रखे सैकड़ों क्विंटल अनाज (गेहूं व चावल) रख-रखाव के अभाव में खराब हो गये हैं. इसके बावजूद इसे वितरण के लिए डीलरों को दिया जा रहा है.

बोरे के अंदर और बाहर दिख रहे कीड़े

कीड़े बोरे के अंदर ही नहीं, बल्कि बोरे के ऊपर भी लग गया है. इसके बावजूद खराब अनाज में से करीब 1300 क्विंटल अनाज को कार्डधारियों के बीच वितरण के लिए डीलर को दिया गया है, जबकि अभी भी काफी मात्रा में खराब अनाज के बोरे गोदाम में पड़े हुए हैं.

गोदाम भी जर्जर स्थिति में

गढ़वा प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में ही हल्का कर्मचारियों के कार्यालय हैं. उसके बगल में बड़े गोदाम में ये सभी अनाज के बोरे रखे हुए हैं. वहीं, गोदाम की स्थिति भी काफी जर्जर है. इस वजह से बारिश के पानी से अनाज के बोरे भींग कर खराब हो गये हैं. इसके बावजूद किसी ने कोई सुध नहीं ली. बताया गया कि छह माह से अधिक समय से ये अनाज उसमें रखे हुए हैं. इस दौरान इनका वितरण किन कारणों से नहीं किया गया, इसके बारे में पदाधिकारी स्पष्ट नहीं बता पा रहे हैं.

7 क्विंटल चना भी हो चुका है खराब

मालूम हो कि इसके पूर्व साल 2020 में भी कोरोना काल में जो चने वितरण के लिये प्राप्त हुए थे, उसमें से करीब 7 क्विंटल चना गोदाम में खराब हो गया था. इसकी जानकारी मिलने के बाद राज्य सरकार की ओर से एक कमेटी बनायी गयी थी. इस कमेटी ने गढ़वा आकर हाल में ही जांच की है. उसके बाद यह दूसरा मौका है जब कोरोना काल में नि:शुल्क वितरण के लिए प्राप्त अनाज खराब हुआ है. बताया गया कि गढ़वा जिले में सुव्यवस्थित ड्राई गोदाम ही नहीं है. इस वजह से रख-रखाव के अभाव में प्राय: अनाज खराब होने की बात सामने आती रहती है.

प्रभार लेने से पहले का रखा हुआ है अनाज : चंद्रदेव तिवारी

इस संबंध में गोदाम मैनेजर चंद्रदेव तिवारी ने बताया कि उनके प्रभार लेने के समय से पहले से यह अनाज जिसमें गेंहू व चावल दोनों हैं, रखे हुए थे. प्रभार लेने के बाद वे इसका वितरण करा रहे हैं. वहीं, गढ़वा सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ कुमार प्रशांत प्रमोद का कहना है कि किसी भी अनाज में यदि कीड़े लग गये, तो वे उसका पोषक तत्व चूस लेते हैं. इसके सेवन से पेट संबंधित बीमारियां हो सकती है. इसमें डायरिया प्रमुख है.

रिपोर्ट : पीयूष तिवारी, गढ़वा.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें