1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. coronavirus corona becomes life threatening for people over 51 in jharkhand 708 percent of deaths in old age prt

Coronavirus : झारखंड में 51 से ज्यादा उम्रवालों के लिए जानलेवा बना कोरोना, 70.8 फीसदी मौत अधिक उम्रवालों की

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में 51 से ज्यादा उम्रवालों के लिए जानलेवा बना कोरोना
झारखंड में 51 से ज्यादा उम्रवालों के लिए जानलेवा बना कोरोना
Prabhat Khabar

राजीव पांडेय, रांची : झारखंड में 51 साल से अधिक उम्र वालों के लिए अब तक कोरोना जानलेवा साबित हुआ है. पहला संक्रमित मिलने के 170 दिन बाद अब तक 517 लोगों की मौत राज्य में हो चुकी है. इनमें 385 संक्रमित इसी आयु वर्ग के थे. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों में इस तथ्य की पुष्टि हुई है. आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलता है कि अब तक जितने भी संक्रमितों की मौत हुई है, उनमें से 70.8 फीसदी की उम्र 51 साल से ज्यादा थी. आंकड़े यह भी बताते हैं कि 51 से 70 वर्ष के 258 और 70 साल से अधिक उम्र के 127 लोगों की मौत कोरोना से हुई है.

राज्य में 51 साल से ज्यादा उम्र वाले संक्रमितों की मौत से यह साबित होता है कि कोरोना काल में वृद्ध या वयोवृद्धों की मौत सबसे ज्यादा हुई है. विशेषज्ञों के अनुसार, चूंकि वृद्ध और वयोवृद्ध लोगों में रोगों से लड़ने की क्षमता कम होती है, इसलिए कोरोना वायरस आसानी से उन्हें अपनी चपेट में ले लेता है. अन्य बीमारी होने पर यह उत्प्रेरक की तरह काम करता है. यानी खतरा दोगुना हो जाता है. ऐसे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस आयु वर्ग वालों को हमेशा सतर्कता बरतने की सलाह दी जाती है.

दूसरी गंभीर बीमारियां हों, तो और खतरनाक हो जाता है कोरोना वायरस

वृद्ध और वयोवृद्ध लोगों में कम होती है रोगों से लड़ने की क्षमता ऐसे लोगों को आसानी से चपेट में ले लेता है कोरोना वायरस

मौत के आंकड़े

उम्र मौत

शून्य से 10 वर्ष 03

11 से 30 वर्ष 19

31 से 50 वर्ष 110

51 से 70 वर्ष 258

70 से अधिक 127

517 मौतें हुई अब तक झारखंड में कोरोना से

385 की उम्र 51 वर्ष से ज्यादा

30 साल से कम उम्रवालों ने कोरोना को हराया

इनमें सिर्फ 22 की ही मौत : राज्य में अधिकतर कोरोना संक्रमित बच्चे और युवा स्वस्थ हो चुके हैं. शून्य से 10 साल की उम्र के सिर्फ तीन की मौत हुई है. वहीं, 11 साल से 30 साल की उम्र के 19 लोगों की अब तक मौत हुई है. यानी शून्य से 30 साल की उम्र वाले कुल 22 की मौत हुई है. विशेषज्ञों की मानें, तो यह उम्र सबसे सुरक्षित माना जा रहा है, क्याेंकि इनमें रोगों से लड़ने की क्षमता बेहतर होती है.

अधिक उम्र के संक्रमितों में 77.1 फीसदी पुरुष और महिलाएं सिर्फ 22.9 फीसदी : कोरोना काल में 51 साल से अधिक उम्र वालों की मौत में पुरुषों की संख्या सबसे ज्यादा है. इस आयु वाले 297 कोरोना संक्रमित पुरुषों की मौत हुई है. इनमें 51 से 70 साल के 192 और 70 साल से अधिक के 105 संक्रमित शामिल थे.

51 साल से अधिक उम्र वाले पुरुषों की मौत का आंकड़ा 77.1 फीसदी रहा है. वहीं, 51 साल से अधिक आयु वर्ग में 88 महिला संक्रमितों की मौत हुई है. इसमें 51 से 70 साल की 66 महिला संक्रमित शामिल थीं. जबकि 70 साल से ज्यादा उम्र वाली 22 महिलाओं की मौत हुई है. यानी महिलाओं की मौत का आंकड़ा 22.9 फीसदी रहा है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट : पूरे विश्व में अधिक उम्र वाले कोरोना संक्रमितों की ही मौत ज्यादा है. यही वह उम्र है, जिसमें बहुत ज्यादा खतरा होता है, क्याेंकि इसी उम्र में लोग बीपी, डायबिटीज, हार्ट व किडनी की बीमारी से पीड़ित रहते हैं. हालांकि, सतर्कता बरती जाये और संक्रमित को समय पर अस्पताल पहुंचा जाये, तो ऐसे लोगों को बचाया जा सकता है.

- डॉ प्रदीप भट्टाचार्य, क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें