1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. no agreement agreed on bonus in sail union not less than 18 thousand smj

सेल में बोनस पर नहीं बनी सहमति, यूनियन को 18 हजार से कम मंजूर नहीं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : बोनस पर सहमति नहीं बनने से बोकारो स्टील प्लांट के 8000 सहित सेल के 56,000 से अधिक कर्मियों में छायी निराशा.
Jharkhand news : बोनस पर सहमति नहीं बनने से बोकारो स्टील प्लांट के 8000 सहित सेल के 56,000 से अधिक कर्मियों में छायी निराशा.
फाइल फोटो.

Jharkhand news, Bokaro news : बोकारो (सुनील तिवारी) : स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने मंगलवार को बोनस मसौदे पर नेशनल ज्वाइंट कमेटी फॉर स्टील (NJCS) के कोर ग्रुप की वर्चुअल बैठक (Virtual meeting) बुलाई. बोनस को लेकर 5 घंटे तक चली बैठक बेनतीजा रही. सेल प्रबंधन ने 15,500 से अधिक किसी भी हाल में बोनस नहीं देने की बात कही, तो यूनियन ने किसी भी हाल में 18,000 से कम नहीं लेने पर अड़े.

बोनस (एक्सग्रेसिया) को लेकर सेल प्रबंधन के साथ एनजेसीएस की वर्चुअल बैठक मंगलवार को सुबह 11 बजे शुरू हुई. पहले प्रबंधन ने सेल की स्थिति से यूनियन नेताओं को अवगत करवाया. उसके बाद अलग- अलग यूनियन ने अलग- अलग बोनस की राशि की डिमांड की. डिमांड 20 हजार से लेकर 31 हजार तक की गयी. पांचों एनजेसीएस सदस्य यूनियन इंटक, एटक, सीटू, एचएमएस एवं बीएमएस के दो-दो प्रतिनिधि इस बैठक में शामिल हुए.

प्रबंधन के प्रस्ताव का एनजेसीएस ने किया विरोध

बैठक के बीच में सेल चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी शामिल हुए. उन्होंने कहा कि पिछली बार की तरह इस बार भी पूजा के पहले कर्मियों के बैंक अकाउंट में 15,500 रुपये भेज दिये जायेंगे. इससे अधिक किसी भी हाल में नहीं दे पायेंगे. इसका एनजेसीएस नेताओं ने विरोध किया. पहले कम से काम 20,000 रुपये देने की मांग की. उसके बाद किसी भी हाल में 18,000 से कम नहीं लेंने की बात दोहरायी. लेकिन, प्रबंधन 15,500 रुपये से अधिक नहीं देने की बात कही.

56 हजार से अधिक कर्मियों में छायी निराशा

बैठक में प्रबंधन 15,500 से आगे नहीं बढ़ा और यूनियन 18,000 से कम पर राजी नहीं हुई. इस बीच लंच हो गया. लंच के बाद फिर बैठक शुरू हुई, लेकिन प्रबंधन और यूनियन अपने- अपने स्टैंड पर कायम रहें. बोनस को लेकर प्रबंधन के प्रस्ताव के विरोध के साथ बैठक समाप्त हो गयी. बैठक बेनतीजा होने के कारण बोकारो स्टील प्लांट के 8000 सहित सेल के 56,000 से अधिक कर्मियों में निराशा छा गयी.

पिछले साल खाता में आया था 15,500 रुपये बोनस

बैठक में त्योहार से पहले संयंत्र कर्मियों को कितना बोनस दिया जाये, इस पर अहम फैसला होना था. इसलिए सभी कर्मी बैठक की ओर टकटकी लगाये हुए थे. संभावना जतायी जा रही थी कि पहली बैठक में ही बात बन जायेगी. बोनस की राशि बैंक खाते में दुर्गा पूजा से पहले भेज दी जायेगी. बीएसएल कर्मियों को पिछले साल खाता में 15,500 रुपये बोनस मिला था. सेल मुनाफा में है. इससे अधिक बोनस की डिमांड हो रही है.

रिवीजन के लिए एनजेसीएस की बैठक पूजा के बाद

बैठक में यूनियन नेताओं ने कोरोना से मृत कर्मचारियों के आश्रितों को मुआवजा एवं नियोजन देने, जल्द से जल्द वेज रिवीजन के लिए एनजेसीएस की बैठक बुलाने, लिव इनकेशमेंट को तत्काल लागू करने आदि की भी मांग उठायी. सेल अध्यक्ष ने आश्वासन दिया कि दुर्गापूजा के 2 हफ्ते बाद रिवीजन के लिए एनजेसीएस की बैठक बुलायी जायेगी. बोकारो से 3 एनजेसीएस नेता रामश्रय प्रसाद सिंह- एटक, बीरेंद्र चौबे- इंटक एवं राजेंद्र सिंह- एचएमएस बैठक में शामिल हुए.

किसी ने कहा तुगलकी फरमान, तो किसी ने बताया फरेब

बोकारो इस्पात कामगार यूनियन- एटक के महामंत्री रामश्रय प्रसाद सिंह ने कहा कि सेल चेयरमैन ने जो तुगलकी फरमान जारी किया है, यूनियन उसका विरोध करती है. इसके खिलाफ आंदोलन किया जायेगा. जरूरत पड़ने पर यूनियन हड़ताल तक जायेगी. वहीं, क्रांतिकारी इस्पात मजदूर संघ- एचएमएस के महामंत्री राजेंद्र सिंह ने प्रबंधन के प्रस्ताव का कड़े शब्दों में विरोध करते हुए कहा कि 15,500 रुपये बोनस की घोषणा मजदूरों के साथ फरेब है. यूनियन इस प्रस्ताव का पुरजोर विरोध करती है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें