1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. saraswati puja immersion of 44 murti left in the open at adampur chowk in bhagalpur with respect rdy

भागलपुर के आदमपुर चौक पर खुले में छोड़ दी गयीं 44 प्रतिमाओं का आदर के साथ विसर्जन, जेएस एजुकेशन ने की पहल

भागलपुर के आदमपुर चौक पर पश्चिम बंगाल के कलाकार चंद्र तांती ने किराये पर जगह ली थी. सरस्वती पूजा को लेकर उसने मां सरस्वती की प्रतिमाओं का निर्माण किया. कोरोना के कारण प्रशासनिक पाबंदियों से प्रतिमाएं नहीं बिकीं. आखिरकार मूर्तिकार सरस्वती पूजा के दिन वह वापस अपने घर पश्चिम बंगाल निराश लौट गया.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मां सरस्वती की प्रतिमाएं
मां सरस्वती की प्रतिमाएं
प्रभात खबर

भागलपुर. आदमपुर चौक पर खुले में पड़ीं मां सरस्वती की 44 प्रतिमाओं को शनिवार को शिक्षाविद राजीवकांत मिश्रा के नेतृत्व में जेएस एजुकेशन के विद्यार्थियों ने मुशहरी घाट स्थित तालाब में विसर्जित किया. दरअसल, प्रतिमाओं का खरीदार नहीं मिलने से बंगाल से आया कलाकार प्रतिमाओं को छोड़ कर पांच फरवरी को अपने घर लौट गया. खुले में पड़ी प्रतिमाओं को देख प्रभात खबर ने छह व सात फरवरी के अंक में इसे प्रमुखता से प्रकाशित किया और लोगों से अपील की कि इन प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए आगे आयें.

इस पर जेएस एजुकेशन के निदेशक राजीव कांत मिश्रा ने प्रतिमाओं के विसर्जन का बीड़ा उठाया और अपने संस्थान के छात्र-छात्राओं व कर्मियों के साथ आदमपुर चौक पर शनिवार को पहुंचे. विसर्जन के दौरान शांति-व्यवस्था में किसी तरह की खलल न पड़े, इसके लिए सदर अनुमंडल पदाधिकारी धनंजय कुमार व विधि-व्यवस्था डीएसपी डॉ गौरव कुमार ने पुलिसकर्मियों के साथ कमान संभाली. सबने मां सरस्वती के चरणों पर अबीर व फूल अर्पित कर उन्हें विदाई दी. इसमें राकेश रंजन, हसन सहित अन्य लोगों ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी.

क्या है मामला

आदमपुर चौक पर पश्चिम बंगाल के कलाकार चंद्र तांती ने किराये पर जगह ली थी. सरस्वती पूजा को लेकर उसने मां सरस्वती की प्रतिमाओं का निर्माण किया. कोविड-19 इफेक्ट के चलते पूजा पर लगी कई प्रशासनिक पाबंदियों व अन्य कारणों से प्रतिमाएं नहीं बिकीं. आखिरकार सरस्वती पूजा के दिन वह वापस अपने घर पश्चिम बंगाल निराश लौट गया.

जेएस एजुकेशन के विद्यार्थियों ने जयकारे के बीच किया विसर्जन

विसर्जन में शामिल छात्रों ने कहा : विसर्जन में शामिल विद्यार्थियों ने कहा कि मां सरस्वती की वह रोज पूजा करते हैं. ऐसे में प्रतिमाओं के साथ इस तरह की उत्पन्न हुई स्थिति की सूचना मिलने पर वह इसमें शामिल होने आये. विसर्जन में आकृति, खुशी, अंशु, तनुजा, ट्विंकल सहित कई विद्यार्थी शामिल हुए.

बेहतर पहल- एसडीओ : सदर अनुमंडल पदाधिकारी धनंजय कुमार ने कहा कि खुले में प्रतिमा होने की सूचना मिली थी. यह अच्छी पहल है कि इन प्रतिमाओं का विसर्जन करने के लिए बच्चे आगे आगे हैं. यह सांस्कृतिक नजरिये से भी जरूरी था. बच्चों की भूमिका बेहतर रही.

सदर SDO व विधि-व्यवस्था DSP ने संभाली शांति-व्यवस्था की कमान

प्रभात खबर की अच्छी पहल - डीएसपी : डीएसपी विधि व्यवस्था डॉ गौरव कुमार ने कहा कि यह बहुत ही अच्छी पहल है यह प्रभात खबर की. जेएस एजुकेशन ने विसर्जन करने में अपना योगदान दिया, यह और अच्छी बात है. अखबार इसी तरह सकारात्मक रास्ता दिखाते रहे. साकारात्मक कार्यों में प्रशासन हमेशा साथ.

प्रभात खबर ने बताया, हमने किया- मिश्रा: जेएस एजुकेशन के निदेश राजीव कांत मिश्रा ने कहा कि उन्हें प्रभात खबर से यह जानकारी मिली कि मां सरस्वती की प्रतिमाएं आदमपुर चौक पर खुले में पड़ी हैं. उन्होंने इन्हें विसर्जित करने का बीड़ा उठाया और बच्चों की मदद से ससम्मान विसर्जन किया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें