1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar politics latest news congress became an obstacle in the entry of pappu yadav in congress rjs

Bihar Politics: पप्पू यादव के एंट्री में कांग्रेसी बने रोड़ा, जानिए कौन कर रहा है विरोध

राजद समर्थक कांग्रेसी का कहना है कि पप्पू यादव के पार्टी में एंट्री से कांग्रेस- राजद गठबंधन में दरार बढ़ेगा. इधर, पप्पू समर्थकों का कहना है उनके आने से कांग्रेस बिहार में एक बार फिर से अपने पैर पर खड़ी हो जायेगी.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पप्पू यादव
पप्पू यादव
प्रभात खबर

राजेश कुमार ओझा

पटना. कांग्रेस में जाप प्रमुख पप्पू यादव की एंट्री पर विरोध शुरु हो गया है. पप्पू यादव के नाम पर कांग्रेस दो भागों में बट गई है. एक पप्पू यादव के समर्थन में है, तो दूसरा गुट उनका विरोध कर रहा है. दोनों के अपने- अपने तर्क हैं. राजद समर्थक कांग्रेसी का कहना है कि पप्पू यादव के पार्टी में एंट्री से कांग्रेस- राजद गठबंधन में दरार बढ़ेगा. इधर, पप्पू समर्थकों का कहना है उनके आने से कांग्रेस बिहार में एक बार फिर से अपने पैर पर खड़ी हो जायेगी.

कौन कर रहा है विरोध

कांग्रेस में पप्पू यादव की एंट्री से पहले ही विरोध शुरु हो गया है. कांग्रेस के कुछ सीनियर नेताओं की ओर से विरोध शुरु हुआ है. पार्टी सूत्रों की माने तो राज्य सभा के एक सदस्य और कुछ कांग्रेस विधायकों ने इसको लेकर मोर्चा खोल दिया है. वे पप्पू यादव के कांग्रेस में एंट्री का विरोध करते हुए कहते हैं कि उनपर कई आरोप है. उनके आने से पार्टी की छवि पर असर पड़ेगा. जबकि कांग्रेस में पप्पू यादव के समर्थकों का कहना है कि विरोध करने वाले कांग्रेस नेता राजद से गठबंधन के पक्षधर हैं. उन्हें यह भय है कि कांग्रेस - राजद का गठबंधन टूटा तो उनकी कुर्सी भी डोल सकती है. क्योंकि उनकी जीत में 'माई' समीकरण की अहम भूमिका है. इसी प्रकार राजद के करीबी और कांग्रेस के टिकट से राज्य सभा सदस्य बने नेताजी को भी अपनी कुर्सी का भय है. राजद विधायकों की मदद से ही वे भी राज्य सभा पहुंचते हैं. पार्टी में उन्हें लालू समर्थक के रुप में भी जाना जाता है. इसी प्रकार पार्टी के कद्दावर अल्पसंख्यक नेता ने भी पप्पू यादव की एंट्री में रोड़ा बने हुए हैं.

रंजीत रंजन ने सोनिया से मांगा समय

बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने बिहार विधान सभा के दो सीटों पर हुए उप- चुनाव के प्रचार प्रसार के दौरान पप्पू यादव से समर्थन मांगा था. तब उन्होंने कहा था कि कांग्रेस पार्टी चाहती है कि पप्पू यादव कांग्रेस की सदस्यता लें और बिहार में कांग्रेस को मजबूत करें. उनके प्रयास के बाद से इस बात की चर्चा तेज हो गई थी कि पप्पू यादव कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे. पप्पू यादव ने भी इसके संकेत दिए थे. लेकिन, पार्टी में उनकी एंट्री पर विरोध के बाद इस मामले में अब उनकी पत्नी भी कूद पड़ी है. सूत्रों का कहना है कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से समय मांगा है. समय मिलने पर वे अपने पति का पक्ष कांग्रेस अध्यक्ष के सामने रखेंगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें