1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. muzaffarpur
  5. no approval for pole shifting beautification of stuck squares and intersections rdy

Bihar News: पोल शिफ्टिंग की नहीं मिली मंजूरी, फंसा चौक-चौराहों का सौंदर्यीकरण

मुजफ्फरपुर में स्मार्ट सिटी से होने वाले शहर के छह प्रमुख चौक-चौराहे के सौंदर्यीकरण का मामला तत्काल फंस गया है. पोल-तार व ट्रांसफार्मर शिफ्ट करने के लिए एक तरफ जहां बिजली कंपनी से एनओसी नहीं मिल पा रही है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
स्मार्ट सिटी मुजफ्फरपुर
स्मार्ट सिटी मुजफ्फरपुर
फाइल

Bihar News: मुजफ्फरपुर में स्मार्ट सिटी से होने वाले शहर के छह प्रमुख चौक-चौराहे के सौंदर्यीकरण का मामला तत्काल फंस गया है. पोल-तार व ट्रांसफार्मर शिफ्ट करने के लिए एक तरफ जहां बिजली कंपनी से एनओसी नहीं मिल पा रही है. दूसरी ओर, सौंदर्यीकरण के लिए तैयार प्रोजेक्ट की डिजाइन-ड्राइंग की मंजूरी आइआइटी पटना में लंबित रहने से इस प्रोजेक्ट के काम शुरू होने पर ग्रहण लग गया है. इससे एजेंसी चयन व वर्क ऑर्डर जारी होने के बाद भी स्मार्ट सिटी कंपनी इस प्रोजेक्ट को शुरू नहीं करा पा रही है.

हालांकि, नगर आयुक्त सह एमडी विवेक रंजन मैत्रेय का कहना है कि सौंदर्यीकरण प्रोजेक्ट में जो भी बाधाएं उत्पन्न हुई है. सभी को जल्द से जल्द दूर करा काम को अविलंब प्रारंभ कराने की कोशिश की जाएगी. दरअसल, स्मार्ट सिटी से शहर के कलमबाग चौक, अघोरिया बाजार, हाथी चौक, कल्याणी चौक, मिठनपुरा व हरिसभा चौक के सौंदर्यीकरण के लिए 5.20 करोड़ रुपये की लागत राशि से प्रोजेक्ट तैयार है.

एमएमएस कंस्ट्रक्शन कंपनी को इसकी जिम्मेदारी दी गयी है. स्मार्ट सिटी की तरफ से बिजली कंपनी को एनओसी देने व पोल-तार व ट्रांसफार्मर को शिफ्ट करने के लिए पत्र लिखा गया था. बिजली कंपनी की तरफ से अब तक ना तो एनओसी मिला है और ना ही एस्टीमेट ही तैयार किया गया है, जिससे की काम को तेजी से शुरू किया जा सके. बता दें कि जिन छह चौक-चौराहों के सौंदर्यीकरण का प्रस्ताव है. वहां से 71 बिजली पोल, 14 ट्रांसफॉर्मर व 07 टेलीफोन खंभा को दूसरे जगह शिफ्ट करना है.

अखाड़ाघाट व एमआइटी के पास बनेगा वेंडिंग जोन

स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत सड़क, ड्रेनेज सहित चल रहे अन्य कार्यों के बीच एमआइटी मछली मंडी और अखाड़ाघाट रोड में वेंडिंग जोन बनाने का रास्ता साफ हो गया है. नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने इसके लिए शनिवार को चयनित कंस्ट्रक्शन एजेंसी आरके रॉक्स व प्रज्ञा कंस्ट्रक्शन के साथ एग्रीमेंट की प्रक्रिया पूरी कर ली है. इन दोनों जगहों पर वेंडिंग जोन बनने के साथ आसपास के फुटपाथी दुकानदारों को राहत होगी. उन्हें वेंडिंग जोन में बने शेड के नीचे सुरक्षित तरीके से फल, सब्जी, मांस-मछली सहित अन्य सामानों की बिक्री करने का मौका मिलेगा.

दोनों जगह वेंडिंग जोन बनाने पर 88 लाख रुपये खर्च होंगे. एजेंसी को निर्माण कार्य पूरा करने के लिए छह माह का समय दिया गया है. अखाड़ाघाट में देना बैंक के सामने वेंडिंग जोन बनाने का जो टेंडर पास हुआ है, उसकी जिम्मेवारी प्रज्ञा कंस्ट्रक्शन को मिली है. वहीं, ब्रह्मपुरा में एमआइटी के गेट के सामने वेंडिंग जोन बनाने का करार आरके रॉक्स कंपनी के साथ हुआ है. अखाड़ाघाट में वेंडिंग जोन का निर्माण पर 45 लाख एवं ब्रह्मपुरा में 43 लाख खर्च होंगे.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें