1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. muzaffarpur
  5. bihar election 2020 jp nadda met litchi producing farmers in muzaffarpur said about aatma nirbhar bharat made with the help of farmers skt

मुजफ्फरपुर की लीची को दुनिया में मिलेगी पहचान, इंडिया नहीं, किसानों की मदद से अब आत्मनिर्भर भारत बनेगा- जेपी नड्डा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा है कि वायनाड सांसद रक्षा मामलों की संसद की स्थायी समिति की ‘‘एक भी बैठक'' में शामिल नहीं हुए, लेकिन देश का मनोबल गिराने काम वो लगातार कर रहे हैं
भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा है कि वायनाड सांसद रक्षा मामलों की संसद की स्थायी समिति की ‘‘एक भी बैठक'' में शामिल नहीं हुए, लेकिन देश का मनोबल गिराने काम वो लगातार कर रहे हैं
Twitter

मुजफ्फरपुर: आत्मनिर्भर भारत की अलख जगाने सरैया पहुंचे भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड‍्डा ने कहा कि अब इंडिया नहीं, आत्म निर्भर भारत बनेगा, जिसमें किसानों की बड़ी भूमिका होगी. लीची उत्पादन में देश-दुनिया में धूम मचाने वाले यहां के किसानों की जिंदगी की तस्वीर अब जल्द बदलेगी. लीची को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही किसान उत्पाद संगठन का गठन होगा.

हम चाहते हैं लीची की वजह से यहां की तस्वीर बदले

सरैया के मनिकपुर स्थित जगत सिंह उच्च विद्यालय में तिरहुत महिला कृषकों व लीची उत्पादक किसानों के साथ संवाद कार्यक्रम में नड्डा ने कहा कि यहां की लीची का दुनिया में अपना स्थान है. अगर हम चाहते हैं लीची की वजह से यहां की तस्वीर बदले, तो हमें बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर, तकनीक, ह्यूमन रिसोर्स और डिमांड को सप्लाई देना जरूरी है.

आत्मनिर्भर भारत पैकेज में एक लाख करोड़ रुपये की व्यवस्था

उन्होंने कहा कि इसके लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज में एक लाख करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है. इससे लीची उत्पादन, ब्रांडिंग और विपणन को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी. इस राशि का उपयोग किसान उत्पादन संगठन के माध्यम से ही होगा, जो सरकारी नियंत्रण से बाहर होगा.

लीची को नंबर वन उत्पाद बनाने के लिए कही यह बात...

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि लीची को नंबर वन उत्पाद बनाने के लिए आर्थिक, तकनीकी आधारभूत संरचना, ट्रेनिंग के साथ किसानों को डिमांड व सप्लाई चेन की सुविधा को हाइटेक करने की आवश्यकता है. गामा ट्रीटमेंट प्रोसेस से लीची को 32 दिनों तक तरोताजा रखने का काम चल रहा है, जिसका फायदा लीची किसानों को मिलेगा. इसके पहले नड्डा दरभंगा से हेलीकॉप्टर से यहां सरैया पहुंचे.

Posted by : Thakur Shaktilochan Shandilya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें